video...ताकि ड्राइवर रहें सुरक्षित

कोरोना से निपटने सोशल डिस्टेंसिंग अपनाई, मेंटेनेंस के साथ रोज 15 डीजल रेल इंजन कर रहे सैनिटाइज, जिससे ड्राइवर रहें सुरक्षित.

लॉकडाउन के दौरान देशभर में जरूरत की सामग्री पहुंचाने में डीजल इंजन की भूमिका महत्वपूर्ण.

By: raghavendra chaturvedi

Updated: 01 Apr 2020, 04:03 PM IST

कटनी. कोरोना की चुनौती से निपटने में लॉकडाउन के दौरान अनाज और जरुरत की दूसरी वस्तुओंं की आपूर्ति के दौरान कहीं भी समस्या नहीं हो इसके लिए न्यू कटनी जंक्शन (एनकेजे) स्थित डीजल लोको शेड में रेलवे कर्मचारी अब युद्धस्तर पर काम कर रहे हैं। चौबीस घंटे में 15 से ज्यादा डीजल इंजन का मेंटेंनेस करने के साथ ही पूरी तरह से सैनिटाइज भी करते हैं, ताकि देशभर में डीजल इंजन दौडऩे के दौरान जब कोई ड्राइवर इन इंजनों पर बैठे तो उन्हे कोरोना छू भी न सके।

खासबात यह है कि 12 सौ ज्यादा कर्मचारी वाले डीजल लोको शेड में काम के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का भी पूरा ध्यान रखा जा रहा है। काम के दौरान रेलवे कर्मचारी कोरोना से सुरक्षित रहें इसके लिए कर्मचारियों के काम का शिफ्ट तीन से पांच व कुछ विभाग में तो 8 तक बढ़ा दिया गया है। शिफ्ट बढ़ाने से कर्मचारियों की संख्या कम हुई तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन होने लगा।

डीजल लोको शेड के सीनियर डीएमइ एसके सिंह बताते हैं कि टीआरडी, टीआरओ, मेडिकल इंजीनियरिंग सहित डीजल लोको शेड के सभी सेक्शन में कर्मचारियों का शिफ्ट बढ़ाने के साथ ही काम के दौरान छूने वाली सभी वस्तुओं को सैनिटाइज किया जा रहा है। काम शुरू करने से पहले कर्मचारी हाथ धो रहे हैं। कोशिश रहती है कि देशभर में यहां निकलने वाली डीजल इंजन दौड़े तो चलाने वाले ड्राइवरों को किसी भी तरह से नुकसान नहीं हो।

raghavendra chaturvedi Bureau Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned