नए साल का स्वागत करना है, तो क्यों न शराब दुकान ही ले आएं घर!

23 लोगों ने घर में आयोजन के लिए शराब बिक्री लाइसेंस की मांगी अनुमति, 9 ढाबा और रेस्टोरेंट सहित एक कमरा युक्त होटल भी शामिल.

राज्य सरकार ने एक दिवसीय शराब बिक्री लाइसेंस को ऑफलाइन के बजाए किया ऑनलाइन, दरें भी घटाई.

 

By: raghavendra chaturvedi

Published: 30 Dec 2020, 10:08 AM IST

कटनी. कोरोना संक्रमण और एहतियात के बीच भला नए साल के स्वागत में खलल क्यों पड़े। इसके लिए जिले के कई लोगों ने अलग ही समझदारी दिखाई। हां यह बात जरूर है कि इसमें राज्य सरकार के बदले नियम का फायदा मिला और लोगों ने सोचा कि कोरोना संक्रमण के बीच होटल और दूसरे सार्वजनिक स्थानों पर बीमारी फैलने का खतरा रहेगा तो क्यों न शराब दुकान को ही घर ले आया जाए।

दरअसल राज्य सरकार ने घरों, पार्टी, लॉन, एवं होटलों में निजी कार्यकमों, विवाह कार्यक्रमों में मदिरा परोसने के संबंध में एक दिवसीय विदेशी मदिरा लाईसेंस आवेदन प्राप्ति एवं निराकरण के लिये एमपी ऑनलाईन के माध्यम से पोर्टल तैयार कराया है। इसमें एफएल-5 के लाइसेंस जारी करने का प्रावधान किया है।

सरकार के इसी नियम के तहत कटनी जिले में 31 दिसंबर की रात नए साल के स्वागत में पार्टी के लिए 33 लोगों ने एक दिवसीय शराब बिक्री लाइसेंस की अनुमति मांगी। खासबात यह है कि एक दिवसीय लाइसेंस का प्रावधान भी था, लेकिन इस साल प्रक्रिया ऑफलाइन के बजाए ऑनलाइन और घर के लिए दो हजार रूपये को घटाकर 1190 किए जाने से भी आवेदन की संख्या बढऩे की बात कही जा रही है।

आबकारी अधिकारी अनिल जैन के अनुसार आवेदन करने वालों में कमरा युक्त होटल श्रेणी में होटल टीजीएस अशोक मोहनानी झिंझरी, रेस्टोरेंट व ढ़ाबा श्रेणी में बर्मन होटल प्रेमलाल बर्मन गनियारी, साहू ढाबा चाका दीपक साहू, मिश्रा ढाबा मुकेश मिश्रा चाका, सत्यशिव जायसवाल सिविल लाइन ओपन गार्डन (स्थान तय नहीं), एवन ढाबा स्लीमनाबाद प्रसन्ना रोटरी, उर्वर्शी रेस्टोरेंट विश्राम बाबा अंकित राय, शुभ ढाबा चाका दिलीप सिंह, सुकून रेस्टोरेंट तपन शुक्ला व बाबा ढाबा विजय जायसवाल पुरैनी शामिल हैं।

23 लोगों ने घर में एक दिवसीय शराब बिक्री की अनुमति मांगी है। इसमें पप्पू यादव पुरैनी, घनश्याम तिवारी कैलवारा, आसिम खान खम्हरिया, हुसैन खान चाका, धर्मेंद्र सोनी चाका, परसूराम पटेल मतवार पड़रिया, लालू पटेल पठरा, शिवकुमार बड़ेरा, अशोक पटेल बड़ेरा, गणेश बर्मन घंघरी, साधू चक्रवर्ती खड़ौला, सुजीत निषाद मंडोला, गुल्ला निषाद इंद्रानगर, राजेश चौधरी कैलवारा, शुभम निषाद पन्नामोड़, मल्लू मझगवां फाटक, बिस्सू चौधरी मझगवां फाटक, राहुल बर्मन जमौड़ी, रवि प्रजापति पसौरा, लाला चौधरी कैलवारा, गोपाल सोनकर कैलवारा फाटक, सुशील गौतम खरखरी व रानी बाई बड़ेरा शामिल हैं।

जिला आबकारी अधिकारी अनिल जैन ने बताया कि 31 दिसंबर को एक दिवसीय लाइसेंस लेने वालों को नजदीकी दुकान से शराब लेनी होगी। इस दौरान शराब बिक्री और सेवन पर कड़ी नजर रखी जाएगी। लाइसेंस उलंघन और अन्य कार्रवाई के लिए विशेष टीम भी गठित की गई है।

एक व्यक्ति का लिमिट तय, सरकार ने घटाई है शुल्क
आबकारी नियमों के अनुसार एक व्यक्ति के पास तीन लीटर देशी शराब, 12 बोतल बीयर और चार बोतल स्प्रिट से ज्यादा शराब नहीं होनी चाहिए। शायद यही कारण है कि घर पर पार्टी के लिए ज्यादा लोगों ने आवेदन किया है। एक दिवसीय लाइसेंस का प्रावधान पहले भी था, लेकिन पूर्व में ऑफलाइन प्रक्रिया के साथ ही घर के लिए लाइसेंस में शुल्क दो हजार रूपये था। इस बार पांच सौ रूपये चालान, पांच सौ रूपये प्रोसेसिंग शुल्क और सौ रूपये शपथ पत्र अनिवार्य किया गया है। ढाबा और रेस्टोरेंट में यह शुल्क 5750 रूपये और कमरा युक्त होटल में 10100 रूपये है।

raghavendra chaturvedi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned