एयरपोर्ट कर्मी हत्याकांड का खुलासा, बहनोई ने ही साथियों के साथ मिलकर की थी साले की हत्या

कौशाम्बी पुलिस ने एयरपोर्ट कर्मचारी हत्याकांड का खुलासा कर दिया है। इस मामले में पुलिस ने मृतक के बहनोई को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस का कहना है कि बहनोई ने ही सम्पत्ति की लालच में अपने एयरपोर्ट कर्मी साले को दोस्तों के साथ मिलकर मारा था। उसका शव जलाने की भी कोशिश की गई थी।

कौशांबी.

यूपी के कौशाम्बी में पिपरी कोतवाली इलाके से बीते सात अगस्त को लापता हुए एयरपोर्ट संविदा कर्मी की हत्याकांड से पुलिस ने पर्दा उठा दिया है। एयरपोर्ट कर्मी की हत्या उसके सगे बहनोई ने अपने साथियों के साथ मिलकर की है। पुलिस का दावा है कि करोड़ों की संपत्ति के लालच में जीजा ने अपने साले की हत्या कर शव को जलाने का प्रयास किया था। एयरपोर्ट कर्मी का शव फतेहपुर जिले के असोथर थानाक्षेत्र में मिला था। पुलिस ने जीजा समेत उसके साथी को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि हत्या की वारदात में शामिल दो अन्य साथियों की तलाश जारी है।

 

पिपरी थाना क्षेत्र के जलालपुर घोसी गांव निवासी राजीव कुमार सिंह उर्फ राजू प्रयागराज के बमरौली एयरपोर्ट पर संविदा कर्मचारी था। बीते सात अगस्त की वह सुबह घर से एयरपोर्ट के लिए निकला था। शाम को वापस नहीं लौटा तो परिजनों ने खोजबीन शुरू की। अगले दिन पिपरी कोतवाली में राजीव के गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई, जिसके बाद पुलिस राजीव की तलाश में जुट गई। नौ अगस्त को फतेहपुर जनपद के असोथर थाना क्षेत्र में नहर किनारे एक युवक का अधजल आशा मिला, जिसकी पहचान राजीव के रूप में हुई।

पिपरी पुलिस इस हत्याकांड के खुलासे की कोशिश में जुट गई। कई मोबाइल नंबरों को सर्विलांस पर लगाने के बाद पुलिस ने मृतक एयरपोर्ट संविदा कर्मी राजीव के बहनोई फतेहपुर के नरैनी निवासी वीरेंद्र को पूछताछ के लिए उठाया। पुलिस की सख्ती के आगे वह टूट गया और अपना जुर्म कबूल कर लिया। उसने बताया कि प्रयागराज के झलवा इलाके में राजीव ने करोड़ों रुपए की जमीन बना रखी है। उसी जमीन को हड़पने के लिए उसने अपने साथियों के साथ मिलकर उसकी हत्या की थी। शव की पहचान न हो सके इसलिए उसे जलाने जलाने की कोशिा भी की।

 


वीरेंद्र ने अपने साले राजीव को उसकी छोटी बहन का रिश्ता करवाने के बहाने घटना वाले दिन फतेहपुर बुलाया। वहां पहले उसे जमकर शराब पिलाई गई, उसके बाद मौत की नींद सुला दिया गया। पुलिस ने वीरेंद्र के साथ उसके साथी विपिन को भी गिरफ्तार कर लिया है। इस हत्याकांड का खुलासा करने के बाद पुलिस अब वीरेंद्र के दो अन्य साथी राजू बैरागी व मुलायम मौर्य की तलाश में जुट गई है।


अपर पुलिस अधीक्षक समर बहादुर ने बताया कि संपत्ति के लालच में एयरपोर्ट संविदा कर्मी की हत्या की गई थी। हत्या में प्रयुक्त अल्टो कार बरामद कर ली गई है। पुलिस ने मृतक का जला हेलमेट व कार से तेल की बोतल भी बरामद किया है। गिरफ्तार किए गए दोनों हत्या आरोपियों को और लिखा पढ़ी कर जेल भेज दिया गया है।

By Shivnandan Sahu

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned