गिरते भू-जल स्तर को सुधारने को कुआं बनेगा सरकार का सहारा

Ashish Shukla

Publish: Apr, 17 2018 08:15:54 PM (IST)

Kaushambi, Uttar Pradesh, India
गिरते भू-जल स्तर को सुधारने को कुआं बनेगा सरकार का सहारा

जिले के पांच हजार कुओं का होगा सुधार, वाटर रिचार्जिंग सिस्टम से जुड़ेंगे

कौशाम्बी. जिले में गिरते भू जल स्तर को काबू करने के लिए जिला प्रशासन अब प्राकृतिक जल स्रोतों की दशा सुधारने की ओर कदम बढ़ा रहा है। जिले में लगभग पांच हजार कुओं का जीर्णोद्धार किये जाने के लिए खाका तैयार किया जा चुका है। इसके तहत कुओं की साफ सफाई के साथ वाटर रिचार्जिंग सिस्टम से जोड़ा जाएगा। इससे भूजल स्तर में सुधार की संभावना है।

जिले के आठ ब्लॉक में से छह ब्लॉक डार्क जोन में है। यहां का भूजल स्तर हर साल एक से डेढ़ मीटर नीचे खिसकता जा रहा है। जिसके चलते पानी की समस्या गहराती जा रही है। किसानों को सिचाई के लिए तो आम जनों को पेयजल के पानी के लिए बेहत दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। जिले के लोगों को पानी की समस्या से निजात दिलाने के लिए जिला प्रशासन ने प्राकृतिक जल संसाधनों को फिर से जीवित करने की ओर कदम बढ़ाया है।

जिले के सीडीओ हीरा लाल की माने तो जिला प्रशासन ने सालों से बेकार पड़े जर्जर कुओं को दुरुस्त किया जाय। इसके लिए जिला पंचायत राज विभाग को जिम्मेदारी सौंपी गई है। जीर्णोद्धार के लिए सूखे कुओं की सफाई कर उसे और अधिक गहरा कराया जाएगा। कुओं के जगत को पक्का करा कर लोगों को बेहतर सुविधा मुहैया कराना जिला प्रशासन की प्राथमिकता में है। इसके अलावा कुओं के आस पास दो दो बड़े गड्ढे बनाये जाएंगे जिसमे कुआं से निकलने वाले पानी वापस उन गड्ढों में जाए और वाटर रिचार्ज हो सके। फिलहाल जिला प्रशासन की यह पहल कितना कामयाब होगी यह तो समय बताएगा लेकिन योजना कामयाब रही तो जिले का गिरता भूजल स्तर में सुधार जरूर होगा। अब देखना ये होगा कि प्रशासन की ये नई पहल आखिरकार भू-जल स्तर को सुधारनें में कितनी मददगार साबित हो सकती है। हालांकि इसके लिए प्रशासन ने जोरशोर से काम शुरू कर दिया है

Ad Block is Banned