UPSC इंटरव्यू में छत्तीसगढ़ से जुड़े दिलचस्प सवालों के जवाब देकर IPS बनेंगे आकाश, कोरोनाकाल में घर पर रहकर की तैयारी

UPSC Result: देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा में कबीरधाम जिले के होनहार आकाश श्रीश्रीमल ने सफलता का परचम लहराया है।

By: Dakshi Sahu

Published: 25 Sep 2021, 03:54 PM IST

कवर्धा. देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की परीक्षा में कबीरधाम जिले के होनहार आकाश श्रीश्रीमल ने सफलता का परचम लहराया है। गुरूवार को संघ लोक सेवा आयोग ने सिविल सेवा परीक्षा के परिणामों की घोषणा की। इसमें कवर्धा के आकाश ने ऑल इंडिया लेवल पर 94 वें रैंक के साथ सफलता प्राप्त की है। उन्होंने अपने इस प्रयास में यह शानदार मुकाम पाकर कवर्धा सहित छत्तीसगढ़ के साथ-साथ अपने परिवार का नाम रोशन किया है। इसके साथ ही वे कबीरधाम जिले के पहले आईपीएस (IPS) ऑफिसर बनेंगे।

Read More: CGPSC में पति-पत्नी की जोड़ी ने किया कमाल अब दोनों एक साथ बनेंगे डिप्टी कलेक्टर, पढ़िए सक्सेस स्टोरी ...

कोरेानाकाल में घर में रहकर की तैयारी
कवर्धा के आकाश श्रीश्रीमल ने रायपुर एनआईटी से सिविल इंजीनियरिंग में डिग्री ली है। साल 2018 में पहली बार यूपीएससी की परीक्षा में शामिल हुए। फिर 2019 में एनआईटी से पास होने के बाद पूरी तरह से तैयारी में लग गए थे। एक साल दिल्ली में कोचिंग की और वहां रहकर तैयारी की। कोरोना काल में घर लौटे तो 2020 में फिर पढ़ाई शुरू की। सोशल मीडिया को अपना सबसे बड़ा हथियार बनाकर वे तैयारी में जुटे रहे। आकाश कबीरधाम जिले के पहले युवा है, जो यूपीएससी परीक्षा में 94 रैंक लाए हैं। आईपीएस बनेंगे तो जिले के पहले डायरेक्ट सलेक्टर होने वाले आईपीएस होंगे।

इंटरव्यू में पूछे छत्तीसगढ़ से जुड़े सवाल
यूपीएससी की परीक्षा में सबसे ज्यादा चर्चा इंटरव्यू में पूछे जाने वाले सवालों की होती है। छत्तीसगढ़ के कवर्धा के आकाश श्रीश्रीमल और महासमुंद के आकाश शुक्ला(ऑल इंडिया रैंक 427) दोनों के लिए यह इंटरव्यू काफी दिलचस्प रहा। दोनों को ही इंटरव्यू में छत्तीसगढ़ से जुड़े सवाल पूछे गए। आकाश श्रीश्रीमाल ने बताया कि इंटरव्यू में करीब दो हजार अभ्यर्थी को बुलाया गया था। उनसे इंटरव्यू पैनल ने आधे घंटे तक कई प्रश्न पूछे। इसमें प्रमुख रूप से छत्तीसगढ़ में शिक्षा की स्थिति को लेकर सवाल पूछे गए। वहीं आकाश शुक्ला ने बताया कि उनका ऑप्शनल सब्जेक्ट हिस्ट्री था। पूछा गया कि छत्तीसगढ़ का इंडिया की हिस्ट्री में क्या योगदान है? जवाब में कहा कि हमारे राज्य में ट्राइबल आंदोलन हुआ था, जो इंटरनेशनल लेवल पर चर्चा में रहा।

Show More
Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned