scriptTravelers wandering in search of shade, there is no facility of even p | छाव के तलाश में भटक रहे यात्री, पोड़ी में यात्री प्रतिक्षालय तक की सुविधा नहीं | Patrika News

छाव के तलाश में भटक रहे यात्री, पोड़ी में यात्री प्रतिक्षालय तक की सुविधा नहीं

ग्राम पंचायत पोड़ी राजकीय राजमार्ग पर स्थित बड़ा कस्बा है। यात्री बसों से लेकर सैकड़ों वाहन यहां से होकर गुजरते हैं। इसके चलते २४ घंटे लोगों की चहलकदमी बनी रहती है। यात्रियों की सबसे ज्यादा भीड़ इकट्ठा होने के बाद भी ग्राम पंचायत पोड़ी में अब तक यात्री प्रतिक्षालय का निर्माण नहीं हो सका है।

कवर्धा

Updated: April 29, 2022 12:51:04 pm

पोड़ी. ग्राम पंचायत पोड़ी राजकीय राजमार्ग पर स्थित बड़ा कस्बा है। यात्री बसों से लेकर सैकड़ों वाहन यहां से होकर गुजरते हैं। इसके चलते २४ घंटे लोगों की चहलकदमी बनी रहती है। यात्रियों की सबसे ज्यादा भीड़ इकट्ठा होने के बाद भी ग्राम पंचायत पोड़ी में अब तक यात्री प्रतिक्षालय का निर्माण नहीं हो सका है। आजादी के 75 वर्ष गुजर जाने के भी बाद भी यात्री प्रतीक्षालय का निर्माण न हो पाना सबसे बड़ा दुर्भाग्य है।
जी हां हम बात कर रहे हैं ग्राम पंचायत पोड़ी का, जो कवर्धा जिले के ग्राम पंचायतों में सबसे चर्चित नाम है। लेकिन आज भी पोड़ी सहित अलग-अलग रुटों पर सफर करने वाले यात्रियों को यात्री प्रतीक्षालय की सुविधा नहीं मिल पाई है। सरकार ने लाखों रुपये खर्च कर नवीन रोड निर्माण सहित जिले के कई विभिन्न इलाकों में यात्री प्रतीक्षालय का निर्माण कराया, जहां यात्री रुकते भी नहीं और जहां यात्री प्रतीक्षालयों की जरूरत भी नहीं है, ऐसे स्थानों पर यात्री प्रतीक्षालय बनाए गए, जो बेकार बदहाल हालात में पड़े हुए, लेकिन जहां सबसे ज्यादा जरुरत है ऐसे स्थानों पर प्रतिक्षालय का निर्माण नहीं हो सका है। ग्राम पोंडी में यात्रियों को सुविधा उपलब्ध कराने के लिए एक भी यात्री प्रतीक्षालय का निर्माण नहीं कराया गया है। बस स्टैंड में यात्री 43 डिग्री के तापमान में भी सड़क के किनारे खड़े होकर यात्री बस का इंतजार करते हुए आसानी से नजर आ जाते हैं। कई बार तो यात्री को चिलचिलाती धूप में घण्टों बस का इंतजार करना पड़ जाता है।
जक्शन होने के बावजूद सुविधा नहीं
पोड़ी को कवर्धा जिले का जक्शन कहा जा सकता है। क्योंकि पोड़ी में बिलासपुर- जबलपुर सहित कवर्धा व आसपास के क्षेत्रों में जाने वाले हजारों लोग बसों और अन्य संसाधनों से आवागमन करते हैं। पोड़ी से रोजाना सैकड़ों बसों का आना जाना लगा रहता है। साथ ही बस के माध्यम से बिलासपुर-जबलपुर जाने के लिए पोड़ी एक मात्र स्थान है। जहां से आस-पास के सैकड़ों गावों के यात्री बस में आवागमन करने के लिए पोड़ी पहुंचते है, लेकिन यात्री प्रतीक्षालय नहीं होने के चलते यात्री सड़क किनारे धूप सेकते हुए खड़े रहते हैं। इतनी चिलचिलाती धूप में यात्री छाव की तलाश में किराना दुकान, होटल व आस पास के दुकानों में छाव ढूंढते रहते हैं।
छाव के तलाश में भटक रहे यात्री, पोड़ी में यात्री प्रतिक्षालय तक की सुविधा नहीं
छाव के तलाश में भटक रहे यात्री, पोड़ी में यात्री प्रतिक्षालय तक की सुविधा नहीं

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

हैदराबाद : बीजेपी की बैठक का आज दूसरा दिन, पीएम मोदी करेंगे संबोधितNIA की टीम ने केमिस्ट की हत्या की जांच के लिए महाराष्ट्र के अमरावती का किया दौराभाजपा ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में 'अर्थव्यवस्था' और 'गरीब कल्याण' पर प्रस्ताव किया पारित, साथ ही की 'अग्निपथ योजना' की सराहनाAmravati Murder Case: उमेश कोल्हे की हत्या का मास्टरमाइंड नागपुर से गिरफ्तार, अब तक 7 आरोपी दबोचे गए, NIA ने भी दर्ज किया केसमोहम्‍मद जुबैर की जमानत याचिका हुई खारिज,दिल्ली की अदालत ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजाSharad Pawar Controversial Post: अभिनेत्री केतकी चितले ने लगाए गंभीर आरोप, कहा- हिरासत के दौरान मेरे सीने पर मारा गया, छेड़खानी की गईश्रेयस अय्यर का टेस्ट करियर खतरे में पड़ा, इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज के बाद टीम इंडिया से होगी छुट्टी!Indian of the World: देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस को यूके पार्लियामेंट में मिला यह पुरस्कार, पीएम मोदी को सराहा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.