मध्यप्रदेश की मेरिट सूची में समरीन, स्वाति और अंकित

पत्रिका: सबसे पहले...माशिमं 14 मई को घोषित करेगा 10वीं-12वीं का रिजल्ट।

By: अमित जायसवाल

Published: 13 May 2018, 06:00 AM IST

खंडवा. माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा कक्षा 10वीं और 12वीं का रिजल्ट 14 मई सोमवार को घोषित किया जाएगा। इससे पहले प्रदेश की मेरिट सूची में शामिल होनहारों के नाम सामने आए हैं। विभागीय सूत्रों के अनुसार, जिले से चार होनहारों के नाम इस सूची में शामिल हैं। तीन नामों की तो पुष्टि हो गई लेकिन चौथे नाम को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं हो पाई है।

खंडवा जिले से ऊर्दू गल्र्स हायर सेकंडरी स्कूल हरीगंज की 12वीं कक्षा की होम सांइस की छात्रा समरीन मो. हुसैन आगवान, स्कॉलर्स डेन स्कूल की 10वीं कक्षा के अंकित राजेश गेलानी और हरसूद के अभिवन पब्लिक स्कूल की कक्षा 12वीं की छात्रा स्वाति शर्मा का नाम शामिल हैं। इन तीनों होनहारों के परिजन के पास शनिवार को माध्यमिक शिक्षा मंडल से फोन आए। छात्र-छात्राओं के मेरिट में आने की सूचना देने के साथ ही रविवार शाम 5.30 बजे तक इन्हें भोपाल बुलाया गया। सोमवार को जब रिजल्ट की घोषणा की जाएगी तो मेरिट सूची में शामिल सभी छात्र-छात्राएं भोपाल में सीएम, शिक्षा मंत्री व अन्य के साथ मौजूद होंगे। बता दें कि समरीन के पिता लोहार हैं। बड़ी बहन आफरीन भी कक्षा 12वीं में प्रदेश की मेरिट सूची में अपना स्थान बना चुकी हैं। उधर, अंकित के पिता एक कमरे में किराना शॉप चलाते हैं। माशिमं से बेटे के मेरिट में आने की सूचना पाकर वे पहले तो भावुक हो गए फिर बोले- बेटा मेरिट में आया है। मुझे बेइंतहा खुशी मिली है।

मेरिट सूची में आए होनहारों से पहला इंटरव्यू, पढि़ए...
1. नौ साल के पेपर सॉल्व कर की तैयारी, बनना चाहती हैं शिक्षिका
नाम: समरीन मो. हुसैन आगवान
कक्षा: 12वीं (होम साइंस)
- 'पत्रिका' से बात करते हुए समरीन ने कहा कि मैं शुरू से ही प्रदेश की मेरिट लिस्ट में अपना नाम देखना चाहती थी। इसलिए मैंने मन लगाकर पढ़ाई की। रोज सुबह 5 बजे से पढ़ती थी। मैंने 9 साल के पेपर सॉल्व कर तैयारी की। इससे मुझे बहुत फायदा मिला। मेरा मानना है कि मेहनत के बगैर कुछ भी हासिल नहीं किया जा सकता है। अब जबकि मेरा नाम मेरिट लिस्ट में है तो मुझे बहुत खुशी है। बहन आफरीन भी प्रदेश की मेरिट सूची में स्थान बना चुकीं हैं तो उनसे भी बहुत कुछ मदद मिली। मैं शिक्षिका बनना चाहती हूं।
पिता बोले- दोगुनी हुई खुशी
समरीन के पिता मो. हुसैन आगवान ने बताया कि शनिवार को माशिमं से फोन आया और उन्होंने सूचना दी तो मुझे दोगुनी खुशी हुई क्योंकि मेरी एक बेटी ये कामयाबी पहले हासिल कर चुकी है। मैं गंज बाजार सन गली में लोहारी का काम करता हूं। बता दें कि समरीन के घर में दादी बसीरन बी, मां आमना बी, सबसे बड़ी बहन फरहीन और 10वीं कक्षा में अध्ययनरत भाई मो. हासिम है। आर्थिक रूप से तंगी के कारण फरहीन 10वीं तक ही पढ़ पाई। हालांकि पिता कहते हैं कि विपरीत परिस्थितियों के बावजूद मैं बच्चों को खूब पढ़ाना चाहता हूं।

2. मुझे किसी ने कहा कि तुम मेरिट में नहीं आ सकते, मैंने कर दिखाया
नाम: अंकित राजेश कुमार गेलानी
कक्षा: 10वीं
- 'पत्रिका' से बात करते हुए अंकित ने कहा कि मुझे प्रदेश की मेरिट में आना था लेकिन किसी ने कहा था कि तुम नहीं आ सकते। उसमें तो बड़े शहरों के बच्चे ही आते हैं। मैंने पूरे साल मेहनत की। आखिरी समय के लिए कुछ भी नहीं छोड़ा। प्री-बोर्ड खत्म होने के बाद भी लगातार पढ़ाई पर फोकस रखा। मुझे पता चला कि मेरा नाम प्रदेश की मेरिट सूची में है तो बहुत खुशी हुई। साबित हो गया है कि मेहनत कभी जाया नहीं जाती। अब मैं चार्टर्ड अकाउंटेंट बनना चाहता हूं।
पिता बोले- मुझे पूरी उम्मीद थी
अंकित के पिता राजेश कुमार गेलानी ने कहा कि जिस तरह से बेटे ने पढ़ाई की थी, उसे देखकर मुझे पहले से ही उम्मीद थी कि ये बड़ी उपलब्धि हासिल करेगा। मेरे बेटे ने खंडवा जिले का नाम रोशन किया है। मुझे उस पर गर्व है। माशिमं से फोन आया है। हम रविवार शाम 4 बजे तक भोपाल पहुंच जाएंगे। बता दें कि शहर के बादशाह नगर में रहने वाले गेलानी परिवार की जलेबी चौक में किराना दुकान है। मम्मी सिमरन गेलानी भी बेटे की इस उपलब्धि से बहुत खुश हैं। परिवार में ये तीनों है और इस खुशी को साथ में सेलिब्रेट किया।

Show More
अमित जायसवाल Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned