मवेशी से भरे ट्रक के आगे चल रही कार पुलिस देख भागी, मूंदी में घेराबंदी कर दबोचा

ट्रक से 55 मवेशी बरामद, आठ मृत मिले, पांच आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज

खंडवा. महाराष्ट्र के लिए खंडवा के रास्ते मवेशी तस्करी का खेल चल रहा है। अक्सर पुलिस मुखबिर की सूचना पर मवेशियों से भरे वाहन पकड़ रही है। लेकिन मवेशी तस्करी में शामिल मुख्य आरोपियों की गर्दन तक पुलिस नहीं पहुंच पा रही है। इस कारण मवेशी तस्करी पर लगाम नहीं लग पा रही है। दरअसल, गुरुवार को कोतवाली पुलिस ने सिविल लाइन स्थित निमाड़ नर्सरी के पास मवेशियों से भरे ट्रक को पकड़ा था। वहीं ट्रक के आगे चल रही कार (एमपी 09 सीएफ 4984) पुलिस को देखकर भाग निकली। पुलिस मूंदी मार्ग की ओर गई। इस पर पुलिस ने पीछा किया और मूंदी के पास घेराबंदी कर कार को पकड़ा। कार में सवार आरोपी आसीम पिता नूर मोहम्मद निवासी पेड़ामर्गा मल्हारगढ़ मंदसौर को गिरफ्तार कर थाने लाया गया। वहीं ट्रक की तलाशी लेने पर दो हिस्सों में ठूंस-ठूंसकर भरे 55 मवेशी बरामद हुए। इसमें से आठ मवेशी मृत मिले। मामले में ट्रक में सवार आरोपी मुजफ्फर पिता खलील निवासी बड़बदा रतलाम, लखन उर्फ लक्की पिता गंगाराम उज्जैन, रज्जब पिता यूसुफ निवासी मुल्तानपुरा मंदसौर, बाबूलाल पिता रामलाल निवासी दलौदा मंदसौर को गिरफ्तार किया गया। आरोपियों को कोतवाली थाने लाकर पांचों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है। आरोपियों से पुलिस मुख्य तस्करों के संबंध में पूछताछ कर रही है।
मुख्य आरोपियों तक नहीं पहुंच पा रही पुलिस
मवेशी तस्करी के मामले में शहर सहित ग्रामीण थाना क्षेत्रों में अक्सर सामने आ रहे हैं। हालही में बोरगांव चौकी पुलिस ने मवेशी से भरा वाहन पकड़ा था। इसके पहले भी कार्रवाइयां हो चुकी है। लेकिन पुलिस अब तक मुख्य आरोपियों की गर्दन नहीं दबोच पाई है। इसका कारण मवेशी लेकर वाहन में चलने वाले आरोपी मोबाइल पर मुख्य आरोपियों से संपर्क करते हैं। वहीं वह एक स्थान से तय दूसरे स्थान तक वाहन पहुंचाते हैं। कोतवाली पुलिस ने पकड़ा ट्रक शिवपुरी से भुसावल ले जाया जा रहा था।
वर्जन...
अवैध रुप से मवेशी परिवहन के मामले में आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। मामले की जांच में कुछ अहम सुराग हाथ लगे है। जल्द ही मामले के मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा।
ललित गठरे, सीएसपी, खंडवा

जितेंद्र तिवारी Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned