ईदगाह से नौजवानों को दांपत्य जीवन मजबूत बनाने की तालीम

शहर आलिम ने कहा-रोटी में नमक कम तो तलाक लेना गलत

खंडवा. बकरा ईद का पर्व सोमवार को जिले में सौहार्द के साथ मनाया गया। इस दौरान विभिन्न मस्जिदों में नमाज अदा की गई। ईदगाह मैदान पर शहर आलिम मौलाना सरफुद्दीन अहमद कादरी ने मुख्य नमाज अदा कराई।

By: dharmendra diwan

Published: 13 Aug 2019, 11:53 PM IST

खंडवा. बकरा ईद का पर्व सोमवार को जिले में सौहार्द के साथ मनाया गया। इस दौरान विभिन्न मस्जिदों में नमाज अदा की गई। ईदगाह मैदान पर शहर आलिम मौलाना सरफुद्दीन अहमद कादरी ने मुख्य नमाज अदा कराई। इस दौरान आलिम कादरी ने तीन तलाक कानून में संशोधन की बात रख नौजवानों को अपना दांपत्य जीवन मजबूत बनाने की तालीम दी। उन्होंने कहा तीन तलाक कानून जल्दबाजी में लाया गया। कानून पर विशेषज्ञों को बैठकर मंथन कर संशोधन करना चाहिए।
उन्होंने कहा कि तलाक के बाद यदि किसी महिला का शौहर तीन साल के लिए जेल चला गया तो उस महिला का भरण-पोषण और देखरेख कौन करेगा? उन्होंने कहा यह कानून लाने के पीछे नौजवानों की गलतियां भी रही हैं। छोटी-छोटी बातों को लेकर संबंध तोड़ लेते हैं। रोटी में नमक कम हुआ तो तलाक और विदेशों में बैठकर वाट्सएप व मोबाइल पर तलाक दे देते हैं। यह गलत है। यदि किसी परिवार में ऐसी स्थिति बनती है तो दोनों पक्षों के वरिष्ठजनों को बैठकर सुलह कराना चाहिए। दोनों के बीच प्यार-मोहब्बत को बढ़ाना चाहिए। इस अवसर पर शहर काजी सैयद अंसार अली और उनके बेटे सैयद निसार अली मौजूद रहे। कलेक्टर तन्वी सुन्द्रियाल, एसपी डॉ. शिवदयाल सिंह, नगर निगम आयुक्त हिमांशु सिंह ने ईदगाह पहुंचकर समाजजनों को बधाई दी।

 

खुशहाली व अमन-चैन की मांगी दुआ
नमाज के दौरान मुस्लिम समाजजन ने खंडवा सहित देश में खुशहाली और अमन-चैन की दुआ मांगी। इस दौरान कहा गया खंडवा में 99 फीसदी लोग अमन पसंद है। सिर्फ चंद असामाजिक तत्व शांति को बिगाडऩे की कोशिश करते हैं। ऐसे लोगों को सबको मिलकर रोकना चाहिए ताकि हमेशा हमारे शहर में अमन और शांति कायम रहे।

dharmendra diwan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned