मुख्यमंत्री का ऐलान... मप्र में गरीबी को खत्म कर नया इतिहास रचेंगे

मुख्यमंत्री का ऐलान... मप्र में गरीबी को खत्म कर नया इतिहास रचेंगे

hemant jat | Publish: Sep, 05 2018 02:28:56 PM (IST) Khargone, Madhya Pradesh, India

मंच से सरकारी की सरकारी योजनाओं का किया गुणगान, भारत बंद के सवाल का बिना जवाब दिए आगे बढ़ गए सीएम

खरगोन.
जन आशीर्वाद यात्रा के तहत बुधवार को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने नया नारा देते हुए कहा कि भाजपा की सरकार पिछले १५ वर्षों से जनता की सेवा में दिनरात जुटी है। किसानों से लेकर बुजुर्ग, गरीब, मजदूर, महिलाओं व छात्र-छात्राओं के लिए अनेकों योजनाएं चलाई जा रही है। सीएम ने कहा कि हमारी सरकार ने किसी काम के लिए जनता से भेदभाव नहीं किया। गरीब, आदिवासी, पिछड़ा व सामान्य सभी वर्ग का ध्यान रखा। उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि कांग्रेस गरीबी हटाने का बोलती रहीं, लेकिन भी गरीबों की ओर ध्यान नहीं दिया। भाजपा ने हर वर्ग का ध्यान रखा। शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में लगातार काम किए। मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता का सहयोग मिलता रहा तो एक दिन मप्र में गरीबी को खत्म कर नया इतिहास रचेंगे। यही मेरा तथा भारतीय जनता पार्टी का संकल्प है। मुख्यमंत्री ने अपने ऊपर हुए हमले का जिक्र करते हुए कहा कि कांग्रेस के नेता मेरे से मुकाबला नहीं कर सकते। इसलिए अब मेरे पर पत्थरों से हमला कर रहे हैं, लेकिन मैं इससे डरने वाला नहीं। मुख्यमंत्री ने करीब आधे ४० मिनट का भाषण दिया। जिसमें उन्होंने पुरानी योजनाओं को मंच से दोहराया। अंत में भाजपा के लिए जनता से वोट भी मांगे। सपाक्स द्वारा छह सितंबर को भारत बंद के आह्वान पर मुख्यमंत्री ने कोई जवाब नहीं दिया। वे कार में बैठकर खंडवा के लिए रवाना हुए।

५ हजार करोड़ की सिंचाई योजनाएं
कांग्रेस के शासन से तुलना करते हुए मुख्यमंत्री ने भाषण में सबसे ज्यादा किसानों और मजदूरों की बात कही। भावांतर, फसल बीमा योजना, गेहूं पर बोनस सहित समर्थन मूल्य पर अतिरिक्त राशि बांटी। मुख्यमंत्री ने कहा कि मां नर्मदा की कृपा से सिंचाई के क्षेत्र में नया आयाम स्थापित किए। मप्र में ५ हजार करोड़ की सिंचाई परियोजनाओं पर काम चल रहा है। मप्र की धरती की प्यास बुझाने तक आराम नहीं करुंगा।

दो घंटे देरी से आए मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री के भीकनगांव आगमन को लेकर पुलिस और प्रशासन ने चौक चौबंद व्यवस्था की। मुख्यमंत्री के आने के पूर्व करीब दो घंटे तक जनता को इंतजार करना पड़ा। दोपहर १२.५० बजे सीएम का हेलीकॉप्टर भीकनगांव पहुंचा। जहां हेलीपेड पर सांसद सुभाष पटेल, भाजपा महामंत्री राजेंद्र राठौड़ आदि ने उनकी अगुवानी की। यहां से मुख्यमंत्री खुले वाहन में सवार होकर जनता का अभिवांदन करते हुए सभा स्थल पर पहुंचे। कृषि उपज मंडी में कुछ देर बाद ही मुख्यमंत्री जनता को संबोधित किया।

मकानों पर लगाए काले झंडे, पुलिस ने निकाले
मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर प्रशासन को कड़ी मशक्कत करना पड़ री है। यहां सीएम के आने के पूर्व कुछके मकानों व दुकानों के बाहर काले झंडे लगे होने से प्रशासन व पुलिस हरकत में आ गया। पुलिस द्वारा ताबड़तोड़ काले झंडों को हटाया गया। उल्लेखनीय है कि दो दिन पूर्व चुरहट व सीधी में जनआशीर्वाद यात्रा के काफिले पर पथराव सहित सीएम की सभा में जूता फेंकने की घटना हुई थी। वहीं प्रदेश में जयस सहित सपाक्स संगठन की सरकार के प्रति बढ़ती नाराजगी से भी जगह-जगह विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं।

सुरक्षा को लेकर किए कड़े बंदोबस्त
भीकनगांव में मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। पिछले बार की तुलना में सीएम की सुरक्षा के लिए दोगुना पुलिस बल तैनात किया गया है। दो दिन पूर्व चुरहट-सीधी में आशीर्वाद यात्रा पर पथराव और जूता फेंकने की घटना के बाद मुख्यमंत्री की सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है। मंच के आसपास पुलिस का खास पहरा रहेगा। कार्यक्रम के समापन के बाद सपाक्स संगठन द्वारा एट्रोसिटी एक्ट के विरोध में ज्ञापन भी सौंपा।

मंच से मीडिया को रखा दूर
आमतौर पर मुख्यमंत्री अभी तक मीडिया से खुले रूप से मिलते रहे हैं। जन आशीर्वाद यात्रा में उन्होंने कई जगह प्रेसवर्ता कर मीडिया से चर्चा की। लेकिन दो दिन पूर्व की घटना के बाद सीएम की मीडिया से भी दूर बढ़ गई है। ऐसा पहली बार हुआ जब मीडिया को मंच के नजदीक जाने की इजाजत नहीं दी गई। वहीं मुख्यमंत्री ने भी मीडिया से सीधे तौर पर कोई बात नहीं की।

नंदकुमार चौहान ने लगाया दम
विधानसभा चुनाव में भाजपा की जीत को सुनिश्चत करने के लिए पिछले एक सप्ताह से भाजपा के पदाधिकारी तैयारी में जुटे हैं। खंडवा सांसद और पूर्व भाजपा अध्यक्ष नंदकुमार चौहान का संसदीय क्षेत्र होने से उन्होंने आयोजन के लिए अपना पूरा दम लगा दिया। यह बात अलग है कि पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत हुई और भाजपा को हार मिली।

Ad Block is Banned