scriptFarming expenses will increase due to the cost of chemical fertilizers | रासायनिक खाद महंगा होने से खेती खर्च बढ़ेगा, किसानों पर पड़ेगा भार | Patrika News

रासायनिक खाद महंगा होने से खेती खर्च बढ़ेगा, किसानों पर पड़ेगा भार

सुपर, डीएपी और एनपीके खाद की कीमतों में बढ़ोतरी, प्रतिदिन बोरी 150-285 रुपए अधिक हुई दर

खरगोन

Published: June 15, 2022 12:04:47 am

खरगोन. खरीफ सीजन में बुआई की तैयारी में जुटे किसानों को खाद की बढ़ी कीमतों के रूप में बड़ा झटका लगा है। इस बार रासायिनक उर्वरों की कीमतों में 20 से 30 प्रतिशत इजाफा हुआ है। जिससे खाद महंगा हो गया और इससे किसानों पर आर्थिक भार पड़ेगा। दरअसल, शासन द्वारा खरीफ सीजन के पूर्व रासायिक खाद की दरें तय की जाती है। इस बार कीमत में बढ़ोतरी होने से खाद के दाम भी बढ़े हैं।
chemical fertilizers
सोसायटी में रखा सुपर खाद।

जिससे किसानों को पहले की तुलना में अधिक कीमत चुकाना पड़ेगी। इससे खेती की लागत और खर्च भी बढ़ेगा और इस कारण किसानों की जेब ढीली होगी। उल्लेखनीय है कि ग्रीष्मकालीन कपास के लिए खाद की डिमांड बढ़ गई हैं। शासन द्वारा खाद के रेट देर से तय होने से किसानों को बाजार से खाद खरीदना पड़ा। वहीं अब कीमतों ने होश उड़ा दिए हैं। प्रति बोरी लगभग 200 से 350 रुपए तक भाव बढ़े हैं।

बारिश के बाद जिले में सोयाबीन, मक्का, मिर्च आदि की फसल बोई जाना है। जिसके लिए सुपर, डीएपी और ईएफको खाद की अधिक डिमांड। जिनका रेट पिछले साल की तुलना में बढ़ा है। कृषि विभाग से मिली जानकारी के इस वर्ष सिंगल सुपर फॉस्फेड (सुपर) के रेट 425, डीएपी 1350 और ईफको (12.32.16) के भाव 1470 रुपए तय हुए है। वहीं यूरिया के रेत गतवर्ष की तरह यथावत रखते हुए एक बोरी की कीमत 267 रुपए हैं। पिछले साल सुपर के भाव 275, सुपर दानेदार 305, डीएपी-1200 और ईएफको 1185 रुपए प्रति बोरी के हिसाब से थे।

खाद पिछले साल इस वर्ष
पोटाश 1000 1700
यूरिया 267 267
सुपर 275 425
सुपर दानेदार 305 465
डीएपी 1200 1350
इफको 1185 1470
(रेट प्रति बोरी के हिसाब से।)
उपलब्धता और वितरण
खाद उपलब्धता वितरण
यूरिया 40226 19592
डीएपी 14624 9154
पोटाश 2560 212
सुपर 23138 5812
(स्त्रोत- कृषि विभाग। आंकड़े मीट्रिक टन में।)
घाटे का सौदा
&खाद-बीज सहित कीटनाशक दवाइयों पर खर्च से खेती घाटे का सौदा साबित हो रही है। सरकार हर साल खाद के दाम बढ़ा रही है और इससे किसानों पर भार पड़ रहा है। सरकार को राहत देने का कदम उठाना चाहिए।
श्याम पंवार, संभागीय पदाधिकारी भाकिसं

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

CBI Raids Manish Sisodia House Live Updates: बीजेपी की बौखलाहट ने देश को ये संदेश दिया है कि 2024 का चुनाव AAP v/s BJP होगा- संजय सिंहबंगाल, महाराष्ट्र में भी ED के छापे, उनके सामने तो मैं तिनका हूँ, 'सांसद अफजाल अंसारी ने दी चुनौती- पूर्वांचल हमारा ही रहेगा'Mumbai News: दही हांड़ी फोड़ने पर 55 लाख से लेकर स्पेन जाने सहित मिल रहे हैं ये खास ऑफर; पढ़े पूरी खबरबिहार में सूखे का जायजा लेने निकले थे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, गया में हेलीकॉप्टर की करवानी पड़ी इमरजेंसी लैंडिंगअखिलेश यादव ने किया यूपी से दिल्ली तक हमला, बीजेपी के खिलाफ मिलकर लड़ेंगेPICS: देशभर में श्री कृष्ण जन्माष्टमी की धूम, सुनाई दे रही जयश्री कृष्णा की गूंजआत्मदाह करने वाले पुजारी की मौत के मामले में अब तक पांच जने गिरफ्तारक्यों मनीष सिसोदिया के घर पर CBI कर रही छापेमारी? जानिए क्या है पूरा मामला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.