यहां बैलों के दांत देखकर लगाया जाता है उम्र का अंदाजा, अच्छी नस्ल की जोड़ी पर लगती है बढ़चढ़ कर बोली

अनोखा मेला
रेस वाली जोड़ी की पतली पूछ देखी, मजबूती के लिए मोटे-तगड़े बैलों की पूछपरख
-पशु बाजार में निमाड़ी नस्ल के बैलों पर व्यापारियों की ज्यादा टीकी नजर, छकड़ों में जोतकर चाल भी देखी

By: Gopal Joshi

Published: 25 Feb 2021, 07:54 PM IST

खरगोन.
खरगोन का नवग्रह मेला मूलत: पशु बाजार के लिए प्रदेश में फेमस है। यहां निमाड़ी नस्ल की बैलजोडिय़ों को खरीदने के लिए इन दिनों, गुजरात, महाराष्ट्र के व्यापार भी पहुंच रहे हैं। गुरुवार को भी हाट बाजार में बैलों की अच्छी पूछपरख रही। खरीदारों ने बैलों की उम्र पता करने के लिए दांतों की पड़ताल की। खेती के कामकाज को लेकर जो व्यापारी बैल लेने आए उन्होंने कद-काठी व मजबूती देखी, जबकि दौड़ वाले बैलों की खरीदारी करने वाले व्यापारियों ने लंबी पूछ, ऊंचा कद और पतले शरीर वाली जोडिय़ों का चुना।
रामपुरा के किसान रमण यादव ने बताया उनकी बैलजोड़ी १.२६ लाख रुपए में बिकी। जबकि ढाबला के किसान लक्ष्मण का एक ही बैल ७० हजार रुपए में खरीदा गया। बाजार में बैलों के अलावा दुधारू नस्ल की भैंस, गाय भी आई। व्यापारी राधू मुकाती ने बताया बीते गुरुवार खाली हाथ लौटे थे इस बार दो जोड़ी बैल खरीदे हैं।

खूब सजाए बैल, सिंगों की मरम्मत भी कराई
व्यापारियों का ध्यान खींचने के लिए किसानों ने अपनी बैलजोडिय़ों को खूब सजाया। कोई रंग बिरंगे रिबन बांधकर लाया तो किसी ने सिंगों की सफाई कर उन्हें काला-सफेद पेंट कराया। सुबह ८ बजे से शुरू हुई पशुओं की खरीदारी देर रात तक चलती रही।

मॉस्क की अनदेखी
मेले में मॉस्क लगाने को लेकर लोगों ने ज्यादा दिलचस्पी नहीं दिखाई। अधिकांश लोग बगैर मॉस्क ही दिखे। जिन्होंने लगा रखे थे उन्होंने भी कार्रवाई के डर से गले में टांग रखे थे। उल्लेखनीय है कि दो दिन पूर्व कलेक्टर ने मेले में मॉस्क न लगाने वालों पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। मुख्य गेट पर मॉस्क लिए कर्मचारी खड़े जरूर दिखाई दिए।

Gopal Joshi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned