किशनगढ़ के बाजारों से मवेशियों को पकड़ेगी गाय गैंग

किशनगढ़ के बाजारों से मवेशियों को पकड़ेगी गाय गैंग

Kali Charan kumar | Updated: 21 Jun 2019, 11:17:08 AM (IST) Kishangarh, Ajmer, Rajasthan, India

कांजी हाउस में रखेंगे बंद
नगर परिषद वसूलेगी जुर्माना

मदनगंज-किशनगढ़. आने वाले कुछ दिनों बाद मुख्य बाजार और सड़कों पर लावारिस मवेशी घुमते नजर नहीं आएंगें। नगर परिषद ने इसके लिए गाय गैंग बना दी है और यह गैंग अब इन मवेशियों को पिंजरे की सहायता से पकड़ कर कांजी हाउस में बंद करेगी। फिलहाल 50 गायें और सांड कांजी हाउस में बंद है।
काफी लम्बे समय बाद आखिरकार अब नगर परिषद का बड़ी हाथी खान के पास कांजी हाउस बन कर तैयार हो गया है और अब इसमें मुख्य मार्गों से पकड़े गए लावारिस मवेशी भी बंद किए जाने लगे है। मुख्य बाजार और मार्गों पर विचरण करने वाले लावारिस मवेशियों को पकडऩे के लिए नगर परिषद प्रशासन ने इसके लिए एक गाय गैंग भी तैयार कर ली है। इस गाय गैंग में 10 कर्मचारी शामिल किए गए है और इसकी मोनिट्रिंग मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षक को सौंपी गई है। यह गाय गैंग नियमित रूप से लावारिस मवेशियों को पिंजरे की सहायता से पकडऩे का काम करेगी और इन्हें कांजी हाउस में बंद किया जाएगा। कांजी हाउस में भी मवेशियों की देखभाल और सारसंभाल के लिए एक जमादार की निगरानी में कर्मचारी लगाए गए है। जो कि बंद मवेशियों के लिए चारे और पानी की व्यवस्था करेंगें। कपड़ी गई निजी गायों को जुर्माना वसूल कर ही छोड़ा जाएगा।
ऐसा बना है कांजी हाउस
नगर परिषद ने बड़ी हाथीखान के पास कांजी हाउस निर्माण करवाया है। यह कांजी हाउस करीब 1925 स्क्वायर मीटर क्षेत्रफल में बना है। इसमें दो शेड है, दो चारा रखने के लिए स्टोरेज कक्ष बनाए गए है। इनमें से एक में हरा चारा और दूसरे में कुट्टी रखी जाएगी, ताकि समय पर मवेशियों को खिलाया जा सके। एक सरकारी कामकाज करने वाले कर्मचारियों के लिए ऑफिस भी बनाया गया है और यहां पर 24 घंटे कर्मचारियों के रहने के लिए एक अतिरिक्त कक्ष भी बनाया गया है। कांजी हाउस भवन दो तीन महीनें में ही पूर्ण बन कर तैयार किया गया है और अब इसका इस्तेमाल भी किया जाने लगा है।
इनका कहना है...
गाय गैंग तैयार की गई है, नियमित रूप से सड़कों पर घुमते मवेशियों को पकड़ा जाएगा।
-नवल मट्टू, मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षक, नगर परिषद, किशनगढ़।
आम आदमी को किसी प्रकार की असुविधा न हो इसके लिए अब नियमित अभियान चलाकर मुख्य मार्गों पर विचरण करते मवेशी पकड़े जाएगें। पकड़े गए निजी मवेशियों को उनके पशु पालकों से नियमानुसार जुर्माना वसूल कर ही छोड़ा जाएगा।
-विकास कुमावत, आयुक्त, नगर परिषद, किशनगढ़।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned