चेहरे से मिलेगी क्लास में एंट्री

आईटीआई में लगेगी बायोमैट्रिक फेस रीडिंग अटेंडेंस मशीन
प्रशिक्षणार्थियों की बढ़ेगी उपस्थिति दर

kishanagrh
मदनगंज-किशनगढ़.
नगर के राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) में जल्द ही बायोमैट्रिक फेस रीडिंग अटेंडेंस मशीन से हाजरी होने लगेगी। नगर का यह पहला सरकारी संस्थान होगा जिसमें प्रशिक्षणार्थियों की उपस्थिति फेस रीडिंग मशीन से दर्ज होगी।
अजमेर रोड स्थित आईटीआई में प्रशिक्षणार्थियों की उपस्थिति बायोमैट्रिक फेस रीडिंग अटेंडेंस मशीन से दर्ज की जाएगी। इसके लिए ऐसी दो मशीने लगाई जाएगी ताकि प्रशिक्षणार्थियों की उपस्थिति दर्ज करने में अधिक समय नहीं लगे। आईटीआई में आईटीआई में वर्तमान में 8 टे्रड संचालित है। इन 8 टे्रड में प्रशिक्षणार्थियों की सं?या लगभग 370 पहुंचने का अनुमान है। इसमे चेहरे और अंगूठा दोनों का उपयोग होगा। इसके लिए अलग से इंटरनेट कनेक्शन की आवश्यकता है। इसके लिए बीएसएनएल से बातचीत जारी है। बीएसएनएल से नेट कनेक्शन मिलते ही यह कार्य जल्द हो जाएगा।
बढ़ेगी उपस्थिति दर
आईटीआई में बायोमैट्रिक उपस्थिति शुरू होने पर इसमे उपस्थिति की दर बढ़ेगी। इससे आईटीआई में प्रशिक्षण और कौशल विकास का स्तर बढ़ेगा और अधिक से अधिक प्रशिक्षणार्थियों को कौशल विकास से जोड़ा जा सकेगा। यह योजना राज्य के श्रम कौशल एवं रोजगार मंत्रालय के सचिव और स्किल डवलपमेंट के आयुक्त की ओर से यह योजना बनाई गई है।
पहली फेस रीडिंग मशीन
आईटीआई में बायोमैट्रिक फेस रीडिंग अटेंडेंस मशीन स्थापित होने के बाद यह पहली मशीन होगी। वर्तमान में कई सरकारी संस्थानों में केवल अंगूठे से संचालित होने वाली बायोमैट्रिक अंटेंडेंस मशीने है।
इनका कहना है-
आईटीआई में बायोमैट्रिक फेस रीडिंग अटेंडेंस मशीन से हाजरी करने की योजना है। बीएसएनएल से इंटरनेेट कनेक्शन मिलने के बाद यह क्रियावित हो जाएगी।
धीरज सांखला, अधीक्षक, आईटीआई, किशनगढ़।

kali charan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned