scriptkishangarh | तलवार की म्यान को डिजाइन दे रहा किशनगढ़ का राजकुमार | Patrika News

तलवार की म्यान को डिजाइन दे रहा किशनगढ़ का राजकुमार

पुश्तैनी काम को बना लिया आजीविका का साधन
पहले पिता से सीखा और अब खुद के परिवार का कर रहा भरण पोषण
तलवार की म्यान को डिजाइन दे रहा राजकुमार

किशनगढ़

Published: November 28, 2021 05:09:28 pm

कालीचरण
मदनगंज-किशनगढ़ ञ्च पत्रिका.
यदि मजबूत इरादे हो और मन में सच्ची लग्न हो तो किसी भी छोटे काम से भी अपने परिवार का भरण पोषण किया जा सकता है। ऐसा ही कुछ कर दिखाया किशनगढ़ के पुराना शहर के युवक राजकुमार जीनगर ने। परिवार की कमजोर हालत को ध्यान में रखते हुए राजकुमार ने तलवार की म्यान बनाने और उसका सौंदर्यकरण करने के अपने खानदानी काम को ही अपना रोजगार बनाया। शुरुआत में तो पिता को काम करते करते सीखा और फिर पिता के मार्गदर्शन से कुछ सालों में ही यह तलवार की लकड़ी से म्यान बनाने और फिर उस का मखमल इत्यादि वर्क से सौंदर्यकरण करने का हुनर हासिल किया। अब वह इत्मिनान से अपना और परिवार का भरण पोषण कर खुशहाल जीवन यापन कर रहा है।
पुराना शहर सदर बाजार क्षेत्र निवासी राजकुमार जीनगर (48) ने बताया कि उनके दादाजी गोविंदराम जीनगर और पिताजी मदनलाल जीनगर तलवार की लकड़ी से म्यान बनाने और उसका सौंदर्यकरण करने का काम किया करते थे। यूं तो तलवार की म्यान बनाने और उसके सौंदर्यकरण का कार्य रजवाड़ी कार्य की श्रेणी में आता है।
पिताजी से ली तालिम
राजकुमार जीनगर ने बताया कि दादाजी ने पिताजी को यह काम सीखाया और फिर पिजाजी से उसने (राजकुमार) ने काम सीखा। उन्होंने बताया कि वर्ष 1990 में ही 10 वीं पास कर ली। लेकिन परिवार की आर्थिक स्थिति को देखते हुए आगे पढऩे के बजाए पिताजी के साथ काम कर उनका सहयोग करना तय किया। इसके बाद उन्होंने शुरुआती दिनों में तो पिजाजी को काम करते देख धीरे धीरे काम की बारिकियों को समझने लगे और फिर पिताजी से ही यह काम सीखना शुरू कर दिया। करीब 5 साल में लकड़ी से म्यान बनाने और उसे आकर्षक बनाने के लिए वर्क करने का हुनर सीख लिया। कुछ समय तक पिताजी के साथ ही काम कर उनका सहयोग किया। लेकिन वर्ष 2000 में पिता मदनलाल जीनगर का देहांत हो गया और इसके बाद उन्होंने इस पुश्तैनी काम को पूरी तरह संभाल लिया। अब इस काम से ही अपना और अपने परिवार का भरण पोषण कर रहे है। इसके साथ वह सौपा बनाने और इसके कवर के साथ ही परदेें इत्यादि बनाने का काम भी करने लगे है।
पहले म्यान बनाते और फिर होता सौंदर्यकरण
पहले तो लकड़ी से तलवार के माप जोख के अनुरूप उसकी म्यान बनाई जाती है। फिर उस पर रेगजीन, चमड़ा या फिर मखमल से काम किया जाता है। इसके बाद उसे पर सितारें वगैरह भी लगा कर उसे आकर्षक बनाया जाता है।
तलवार की म्यान को डिजाइन दे रहा किशनगढ़ का राजकुमार
तलवार की म्यान को डिजाइन दे रहा किशनगढ़ का राजकुमार

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Numerology: कम उम्र में ही अच्छी सफलता हासिल कर लेते हैं इन 3 तारीखों में जन्मे लोगहो जाइये तैयार! आ रही हैं Tata की ये 3 सस्ती इलेक्ट्रिक कारें, शानदार रेंज के साथ कीमत होगी 10 लाख से कमइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतShani: मिथुन, तुला और धनु वालों को कब मिलेगी शनि के दशा से मुक्ति, जानिए डेटइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीweather update: राजस्थान के इन जिलों में हुई बारिश, जानें आगे कैसा रहेगा मौसमतत्काल पैसों की जरुरत है? तो जानिए वो 25 बैंक जो दे रहे हैं सबसे सस्ता Personal Loan

बड़ी खबरें

UP Assembly Elections 2022 : पलायन और अपराध खत्म अब कानून का राज,चुनाव बदलेगा देश का भाग्य - गृहमंत्री शाहराजपथ पर पहली बार 75 एयरक्राफ्ट और 17 जगुआर का शौर्य प्रदर्शन, देखें फुल ड्रेस रिहर्सल का वीडियोहेट स्पीच को लेकर हिन्दू संगठन पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, कहा-मुस्लिम नेताओं की भी हो गिरफ्तारीCovid-19 Update: देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 3.37 लाख नए मामले, ओमिक्रॉन केस 10 हजार पारनेताजी की जयंती अब पराक्रम दिवस के रूप में मनाई जाएगी, PM मोदी समेत इन नेताओं ने दी श्रद्धांजलिघने कोहरे की वजह से तेजस एक्सप्रेस हुई लेट, रेलवे देगा 544 यात्रियों को भारी मुआवजाबयान की सीडी एवं पीडि़ता की सलवार पर आरोपी की डीएनए प्रोफाइल ने आरोपी को दिलाई सजाUP Assembly Election 2022: यहां बाहुबली का रहा है एकछत्र राज, बीजेपी के लिए आसान नहीं होगा ढ़हाना किला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.