उधर बहा रहे इधर तीन दिन में जलापूर्ति

उधर बहा रहे इधर तीन दिन में जलापूर्ति
उधर बहा रहे इधर तीन दिन में जलापूर्ति

Kali Charan kumar | Updated: 21 Aug 2019, 08:19:09 PM (IST) Kishangarh, Ajmer, Rajasthan, India

किशनगढ़ में तीन दिन में कम प्रेशर से हो रही जलापूर्ति
दो दिन में जलापूर्ति के लिए चाहिए 26 एमएलडी पानी

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मदनगंज-किशनगढ़. एक ओर तो बीसलपुर बांध के पूरा भर जाने के कारण गेट खोल कर पानी छोड़ा जा रहा है वहीं नगरीय क्षेत्र में अभी भी 72 घंटे में ही जलापूर्ति की जा रही है। वह भी कम प्रेशर से किए जाने के कारण नगरवासियों को पर्याप्त पानी नहीं मिल पा रहा है। इसमे भी कई बार अंतराल बढ़ जाने से परेशानी बढ़ जाती है।
नगरीय क्षेत्र में अभी भी कम प्रेशर से 72 घंटे में जलापूर्ति की जा रही है। अभी नसीराबाद पंप हाउस से 20 एमएलडी पानी मिल रहा है जिसकी आपूर्ति नगरीय क्षेत्र में 3 दिन में की जाती है। कई बार तकनीकी या अन्य दिक्कते आने पर यह अंतराल कई क्षेत्रों में 4 दिन का हो जाता है। साथ ही वर्तमान में अधिकतर क्षेत्रों में कम प्रेशर से पानी आने की समस्या भी है। इसको देखते हुए नगर में भी जलापूर्ति बढ़ाए जाने की आवश्यकता है ताकि नगरवासियों को हर दो दिन (48 घंटे) में शुद्ध पेयजल उपलब्ध हो सके। बीसलपुर बांध के पूरा भर जाने के बाद जलदाय विभाग के पास पर्याप्त पेयजल उपलब्ध हो गया है। इसको देखते हुए नगर में पेयजल आपूर्ति का अंतराल कम कर प्रेशर से आपूर्ति की जानी चाहिए ताकि लोगों को राहत मिले।
26 एमएलडी की आवश्यकता
नगर को हर दो दिन में जलापूर्ति के लिए 26 एमएलडी पानी की आवश्यकता है। नसीराबाद पंप हाउस से मसाणिया बालाजी पंप हाउस तक पेयजल आपूर्ति की जाती है और फिर यहां से नगर के विभिन्न क्षेत्रों में पंप हाउसों और उच्च जलाशयों से घरों तक जलापूर्ति की जाती है। नसीराबाद पंप हाउस से जलापूर्ति बढ़ाकर 26 एमएलडी कर दी जाए तो नगर में आवश्यकता के अनुरूप पेयजल की आपूर्ति की जा सकती है।
चाहिए तैयार सिस्टम
नगर को नियमित जलापूर्ति के लिए पूरी तरह तैयार आधारभूत ढांचे की आवश्यकता है। पुनर्गठित शहरी पेयजल परियोजना के अंतर्गत तीन नए पंप हाउसों का संचालन शुरू हो चुका है। जल्द ही आजाद नगर पंप हाउस का भी संचालन शुरू हो जाएगा। वहीं नए 14 उच्च जलाशय भी बनकर तैयार हो गए है। इससे जलदाय विभाग की जलापूर्ति की क्षमता बढ़ गईहै। मदनगंज मुय क्षेत्र के लिए डाक बंगला परिसर में उच्च जलाशय का निर्माण कार्य जारी है। इसके साथ ही इसी क्षेत्र में नई लाइनों के बिछाने का कार्य भी बरसात बाद शुरू होगा। यह कार्य पूरा होने पर जलापूर्ति व्यवस्था में काफी सुधार हो जाएगा।
इनका कहना है-
वर्तमान में तीन दिन में जलापूर्ति की जा रही है। आगे उच्चाधिकारियों से जैसा निर्देश प्राप्त होगा उसी के अनुसार जलापूर्ति की जाएगी।
-एस.एल. जीनगर, अधिशाषी अभियंता, जलदाय विभाग, किशनगढ़।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned