चार अंको से बनाए 92 लाख , फिर गया जेल, जाने क्यों.....

चार अंको से बनाए 92  लाख , फिर गया जेल, जाने क्यों.....

Rakesh Mishra | Publish: Aug, 08 2019 11:11:31 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

कंपनी के बैंक खातेसे करता था निजी खाते में रुपए ट्रांस्फर


कोलकाता(Kolkata)

महानगर में एक कंपनी के कर्मचारी ने अपनी कंपनी के बैंक खाते से 92 लाख 95 हजार रुपए की धोखाधड़ी की है। आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उससे पूछताछ की जा रही है।

संयुक्त पुलिस आयुक्त (क्राइम) मुरलीधर शर्मा ने बताया कि इस तरह की धोखाधड़ी का मामला कभी-कभार ही सामने आता है। शर्मा ने बताया कि 30 मई 2019 को गिरीश पार्क थाने में डेलिवरी प्राइवेट कंपनी के प्रतिनिधि रंजीत देव ने अपनी कंपनी के एजेंट शुभंकर दास पर 92 लाख 95 हजार रुपए की धोखाधड़ी करने की शिकायत दर्ज कराई थी। शिकायतकत्र्ता के मुताबिक, जनवरी 2018 सेे जून 2019 तक कलेक्शन किए गए रुपए को कंपनी के बैंक खाते में जमा नहीं कर उसने उस रुपए को अपने बैंक खाते में जमा कर दिया था जिससे कंपनी के ऑडिट में उक्त रुपए का हिसाब नहीं मिल रहा था। शिकायत मिलने पर पुलिस ने मामले की जांच शुरू की।

ऐसे किया घपला

जांच में पुलिस ने पाया कि कंपनी के बैंक खाते की आखिरी चार डिजिट और आरोपी शुभंकर दास (25) के निजी बैंक खाते की संख्या के आखिरी चार डिजिट नम्बर एक समान थे। मालूम हो कि बैंक खाते में लेनदेन होने पर बैंक से मिलने वाले मैसेज इस प्रकार से आता ********०००० से आता है। एजेंट अपने बैंक खाते में रुपए जमा कराता था और कंपनी को जो मैसेज मिलता था वह आखिरी चार डिजीट को रुप में इस प्रकार से मिलता था। इस का खुलासा ऑडिट के समय हुआ। आरोपी शुभंकर दास को पुलिस ने हुगली जिले के चंडीतल्ला इलाके से उसके फ्लैट से बुधवार को गिरफ्तार किया। आरोपी के 7 बैंक खाते थे। वह कंपनी के रुपए को अपने बैंक खाते में जमा करने के बाद उस रकम को इन 7 खातों में ट्रांसफर कर देता था। पुलिस के मुताबिक, बैंक खातों में रुपए नहीं है। पुलिस अनुमान कर रही है कि आरोपी ने रुपए को प्रोपर्टी में निवेश कर दिया है।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned