Sikh man Balvinder Singh's turban case: गिरफ्तार सिख की पत्नी को मिला डीजीपी से अपने पति की रिहाई का संदेश

गत आठ अक्टूबर को भाजपा के राज्य सचिवालय नवान्न अभियान के दौरान गिरफ्तार सेना के पूर्व सिख जवान और निजी सुरक्षा गार्ड बलविंदर सिंह की पत्नी करमजीत कौर ने शनिवार को राज्य के डीजीपी से मुलाकात के बाद अपने पति की रिहाई का संदेश मिलने पर खुशी जाहिर की। उन्होंने बताया कि वे आशावादी हैं कि बलविंदर जल्द ही जेल से बाहर होंगे और वे उनकी रिहाई के बाद उन्हें पंजाब वापस ले जा पाएंगी।

By: Manoj Singh

Published: 17 Oct 2020, 09:44 PM IST

बलविंदर को लेकर जल्द ही लौट सकूगी पंजाब - करमजीत कौर
कोलकाता
गत आठ अक्टूबर को भाजपा के युवा मोर्चा के राज्य सचिवालय नवान्न अभियान के दौरान गिरफ्तार सेना के पूर्व सिख जवान और भाजपा नेता के निजी सुरक्षा गार्ड बलविंदर सिंह की पत्नी करमजीत कौर ने शनिवार को राज्य के डीजीपी वीरेन्द्र से मुलाकात की। मुलाकात के बाद अपने पति की रिहाई का संदेश मिलने पर खुशी जाहिर की। उन्होंने बताया कि उन्होंने इस दिन डीजीपी से मुलाकात की। वे आशावादी हैं कि बलविंदर जल्द ही जेल से बाहर होंगे और वे उनकी रिहाई के बाद उन्हें पंजाब वापस ले जा पाएंगी। उन्होंने पश्चिम बंगाल की मीडिया, राज्य प्रशासन और अपने समुदाय के सभी संगठोनों के पदाधिकारियों को "सकारात्मक घटनाक्रम" के लिए धन्यवाद दिया।
राज्यपाल जगदीप धनखड़ और पुलिस प्रशासन से मिलने से कोई नतीजा नहीं निकले पर शुक्रवार को करमजीत कौर ने शिनवार सुबह 11 बजे से नवान्न के सामने अंशन पर बैठने की धमकी दी थी। बलविंदर सिंह की रिहाई के लिए प्रयासरत सिख संगठनों के पदाधिकारियों ने बताया कि करमजीत कौर के अंशन की धमकी देने के कुछ ही घंटे बाद ही मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उक्त गिरफ्तार सिख निजी सुरक्षा गार्ड को छोड़ने के लिए सहमत हो गई थी। मुख्यमंत्री ने शुक्रवार शाम को ही उन्हें बलविंदर सिंह की रिहाई और उसके खिलाफ सारे मामले वापस लेने का भरोसा दिलाया था।
युवा मोर्चा के नवान्न अभियान के दौरान हावड़ा की पुलिस ने भाजपा नेता के अंगरक्षक बलविंदर को हथियार के साथ गरिफ्तार की थी। उस दौरान पुलिस उन्हें सड़क पर घसीटते हुए ले गई और पुलिस पर उनकी पगड़ी उतार का आरोप लगाया गया। दूसरे दिन कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका खारिज करते हुए आठ दिन के लिए पुुलिस हिरासत में भेज दिया था। उसके बाद से वे हावड़ा पुलिस के हिरासत में हैं।
सूत्रों ने बताया कि पुलिस बलविंदर सिंह को संभवतः 19 अक्टूबर को अदालत में पेश करेगी। उम्मीद है कि उस दिन उसे जमानत मिल जाएगी।
पुलिस ने सिंह पर भारतीय दंड संहिता और शस्त्र अधिनियम की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है, जिसका लाइसेंस केवल जम्मू और कश्मीर में वैध है। बलविंदर सिंह की पत्नी और बेटे हर्षवीर मंगलवार को कोलकाता आए थे और राजभवन में राज्यपाल जगदीप धनखड़ से मुलाकात कर इस मुद्दे पर हस्तक्षेप करने की मांग की थी। धनखड़ ने उनके समर्थन में ट्वीट किया था।

Show More
Manoj Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned