बंगाल: इस भाजपा उम्मीदवार का हो सकता है एनकाउंटर

बंगाल: इस भाजपा उम्मीदवार का हो सकता है एनकाउंटर

Rabindra Rai | Publish: May, 21 2019 07:54:53 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

पार्टी के इस बड़े नेता ने किया दावा, कहा जान खतरे में

कोलकाता. लोकसभा चुनाव को लेकर पश्चिम बंगाल की राजनीति यहां तक गिर जाएगी, चुनाव से पहले शायद ही किसी ने सोचा होगा। नेताओं में जुबानी कटार और जुबानी छुरी तो खूब चली। अब बात किसी की जान लेने तक आ पहुंची है। भाजपा के एक बड़े नेता ने मंगलवार को दावा कि राज्य में पार्टी प्रत्याशी का एनकाउंटर हो सकता है। उनकी जान जा सकती है। यह दावा भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने किया है। उनका कहना कि बंगाल में भाजपा प्रत्याशी अर्जुन सिंह की जान खतरे में है और उनका एनकाउंटर किया जा सकता है। अगर कुछ भी हुआ तो जिम्मेदार मुख्यमंत्री ममता बनर्जी होंगी। कैलाश विजयवर्गीय ने इस बारे में ट्वीट किया है कि ममता बनर्जी ने बैरकपुर के पुलिस कमिश्नर सुनील चौधरी को बैरकपुर संसदीय क्षेत्र के भाजपा प्रत्याशी अर्जुन सिंह को गिरफ्तार करने का आदेश दिया है। अर्जुन की जान को खतरा है। उनका एनकाउंटर किया जा सकता है। उन्हें कुछ हुआ तो सीएम जिम्मेदार होंगी।
गत 19 मई को भाटपाड़ा विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव से पहले ही हिंसा भड़क उठी थी। गाडिय़ों में आग लगाने के अलावा बम भी फेंका गया था। भाजपा ने आरोप लगाया था कि तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के कार्यकर्ताओं ने आगजनी की है। मतदान बाद भी भाटपाड़ा और आसपास के इलाके में हिंसा की आग बुझी नहीं है। मंगलवार को बैरकपुर इलाके में कांकीनाड़ा स्टेशन पर असामाजिक तत्वों ने सियालदह जाने वाली स्थानीय ट्रेन पर पत्थरों, बोतलों तथा बमों से हमला कर दिया जिसमें कई लोग घायल हो गए। बदमाशों ने सुबह कांकीनाड़ा स्टेशन पर सियालदह जा रही ट्रेन को रोक दिया तथा दैनिक यात्रियों से भरी ट्रेन पर पत्थरों, टूटी बोतलों तथा बमों से हमला कर दिया। इस हमले में कम से कम 15 लोग घायल हो गए।
विजयवर्गीय ने कहा कि चौधरी भाटापाड़ा में साम्प्रदायिक दंगे करवा रहे हैं। हिन्दू परिवारों को मुस्लिम परिवारों ने घेर लिया है। पुलिस मूकदर्शक बनी हुई है। अनेक हिन्दू परिवारों की जान खतरे में है।
उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में सबसे बड़ी परेशानी यह है कि वहां राज्य सरकार का प्रशासन, पुलिस और गुंडे, तीनों एक कतार में खड़े दिखायी देते हैं। इस सूबे के लोग ममता के तानाशाहीपूर्ण रवैये और उनके दल (तृणमूल कांग्रेस) के कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी से तंग आ गये हैं।
केंद्र में दोबारा नरेंद्र मोदी सरकार बनने का भरोसा जताते हुए भाजपा महासचिव ने कटाक्ष किया कि परिणामों की घोषणा के बाद ममता और चंद्रबाबू नायडू जैसे नेता छिप जायेंगे और उनकी हार पर प्रतिक्रिया लेने के लिये मीडिया को उन्हें खोजना पड़ेगा।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned