बंगाल की नौ योजनाओं को पुरस्कार-ममता

Shankar Sharma

Publish: Sep, 10 2017 05:29:00 (IST)

Kolkata, West Bengal, India
बंगाल की नौ योजनाओं को पुरस्कार-ममता

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को कहा कि पश्चिम बंगाल की नई और जन हितैषी नौ परियोजनाओं को पुरस्कार देने के लिए चयन किया गया है

कोलकाता. मुख्यमंत्रममता बनर्जी ने शनिवार को कहा कि पश्चिम बंगाल की नई और जन हितैषी नौ परियोजनाओं को पुरस्कार देने के लिए चयन किया गया है। अपने फेसबुक पर पोस्ट कर ममता बनर्जी ने कहा कि सुशासन के क्षेत्र में पश्चिम बंगाल की इस उपलब्धि की खबर को फेसबुक पर पोस्ट करते हुए उन्हें बहुत खुशी हो रही है।

बंगाल की नौ इनोवेशन और जन हितैषी योजनाओं को एसकेओसीएच पुरस्कार मिला है। इनमें से छह को सर्वोच्च पुरस्कार मिला है। ममता बनर्जी के अनुसार बंगाल में कारोबार शुरू करने की प्रक्रिया सरल करने के लिए प्लेटिनम पुरस्कार के साथ युवाश्री और सामाजिक सुरक्षा योजना को स्वर्ण पुरस्कार मिला है।

केंद्र विरोधी आंदोलन की तैयारी में बंगाल के किसान
किसानों की विभिन्न मांगों को लेकर आंदोलन की रणनीति तय करने के लिए पश्चिम बंग किसान व खेत मजदूर तृणमूल कांग्रेस कमेटी का राज्य सम्मेलन रविवार को दक्षिण कोलकाता के नजरूल मंच में होगा।
संगठन के प्रदेश अध्यक्ष विधायक बेचाराम मन्ना ने बताया कि सम्मेलन में राज्य भर के ३५०० किसान प्रतिनिधि के रूप में उपस्थित होंगे। सिंगुर आंदोलन की आड़ में गठित किसानों के संगठन का यह दूसरा सम्मेलन हो रहा है।

सम्मेलन में पारित प्रस्तावों को सामने रख कर राज्य के किसान एकजुट होकर केंद्र विरोधी आंदोलन में शामिल होंगे। मन्ना ने बताया कि केंद्र सरकार की गलत नीतियों के कारण राज्य में किसानों की हालत दयनीय है। उन्हें फसल का उचित मूल्य नहीं मिल रहा है। राज्य में सबसे अधिक जूट और धान उत्पादक किसान हैं, जो केंद्र सरकार की ओर से निर्धारित समर्थन मूल्य पाने से वंचित हो रहे हैं। वर्तमान दौर में किसानों का यह सबसे ज्वलंत मुद्दा है। इसके खिलाफ उनका आंदोलन चलेगा।


रेल की बजाय विमान से गए मनोज सिन्हा
हावड़ा. रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा शनिवार की शाम हावड़ा स्टेशन से राजधानी एक्सप्रेस से रवाना होने वाले थे। फिर सूचना मिली कि वे कालका मेल से रवाना होंगे। इस कारण पूरे स्टेशन की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई थी। आरपीएफ और जीआरपी जवान भी तैनात रहे। भाजपा समर्थक व हावड़ावासी उनका इंतजार कर रहे थे। लेकिन उनके धैर्य का बांध उस समय टूट गया जब पता चला कि वे हवाई जहाज से रवाना हो गए। फिर सभी स्टेशन से चले गए।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned