सीबीआई हरकत में, अवैध कोयला व्यापारियों में हड़कंप

सीबीआइ के हरकत में आते ही अवैध कोयला व्यापारियों में हड़कंप मच गया है। अवैध कोयला व्यापार मामले में जांच एजेंसी ने कथित कोयला तस्करों के परिसरों समेत 4 राज्यों में 45 ठिकानों पर तलाशी अभियान चलाया। अधिकारियों ने बताया कि ये तलाशी प्राथमिक रूप से पश्चिम बंगाल में हुई।

By: Rabindra Rai

Published: 29 Nov 2020, 04:10 PM IST

नए मामले को लेकर भ्रष्टाचार निरोधी शाखा की बड़ी कार्रवाई
कोलकाता. सीबीआइ के हरकत में आते ही अवैध कोयला व्यापारियों में हड़कंप मच गया है। अवैध कोयला व्यापार मामले में जांच एजेंसी ने कथित कोयला तस्करों के परिसरों समेत 4 राज्यों में 45 ठिकानों पर तलाशी अभियान चलाया। अधिकारियों ने बताया कि ये तलाशी प्राथमिक रूप से पश्चिम बंगाल में हुई। सीबीआइ द्वारा दर्ज एक नए मामले को लेकर भ्रष्टाचार निरोधी शाखा की ओर से यह बड़ी कार्रवाई की गई। एजेंसी ने पश्चिम बंगाल के आसनसोल, रानीगंज, दुर्गापुर, पुरुलिया, दक्षिण 24 परगना जिले में कोयला के अवैध व्यापार एवं उसकी तस्करी में कथित रूप से संलिप्त लोगों के परिसरों पर छापे मारे। कोलकाता और आसनसोल में रहने वाले कोयला तस्करी के सरगना अनूप मांंझी उर्फ लाला और उसके करीबी व सहायकों के ठिकानों की तलाशी ली गई। जांच एजेंसी के मुताबिक आरोपी अनूप मांझी ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (ईसीएल) के दो महाप्रबंधकों एवं तीन सुरक्षाकर्मियों के साथ साठगांठ कर चोरी के धंधे में कथित रूप से लगा था। सीबीआई का तलाशी अभियान पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड और उत्तर प्रदेश में चला। अधिकारियों ने बताया कि जांच एजेंसी ने शुक्रवार को आरोपी अनूप मांझी और अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था जिनमें ईसीएल, रेलवे और सीआईएसएफ के कुछ कर्मी शामिल हैं। आरोप है कि मांझी उर्फ लाला कुनुसटोरिया और कोजरा इलाकों में लीज होल्ड खदानों से कोयले के अवैध खनन एवं उसकी चोरी के धंधे में लगा हुआ था।
-
अभियान के दौरान सुरक्षा अधिकारी की मौत
अपने निवास पर सीबीआइ की तलाशी के दौरान बीमार पड़ गए ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (ईसीएल) के एक सुरक्षा अधिकारी की शनिवार को मौत हो गई। ईसीएल सूत्रों ने बताया कि पश्चिम बंगाल के पश्चिम बर्धमान जिले में रानीगंज के कुनुसटोरिया इलाके में इस सरकारी कंपनी के सुरक्षा निरीक्षक धनंजय रॉय तब बीमार पड़ गए, जब तलाशी अभियान चल रहा था। सूत्रों के अनुसार उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मृत्यु हो गई।
--
पार्टियों को भी फंडिंग के संकेत
बताया जा रहा है कि सीबीआई की टीम ने कोलकाता में भी कुछ ठिकानों पर तलाशी ली है, हालांकि इसकी तत्काल पुष्टि नहीं हो पाई है। इससे पहले आयकर विभाग ने भी लाला के ठिकानों पर छापेमारी की थी। लाला कथित तौर पर बंगाल-झारखंड सीमा पर कोयला खनन के कारोबार का संचालन करता था। सूत्रों के मुताबिक कोयला खनन रैकेट से कई राजनीतिक दलों को भी फंडिंग के संकेत मिले हैं। मांझी को आयकर विभाग की ओर से इस महीने तीन नोटिस जारी किए जा चुके हैं।
--
पहले भी छापेमारी
दूसरी ओर प्रदेश भाजपा कोयला तस्करी को लेकर लगातार सत्तारूढ़ दल पर हमलावर है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह हाल में जब बंगाल दौरे पर थे तो इसी कोयला माफिया के खिलाफ आयकर ने छापेमारी की थी तो तृणमूल ने सवाल उठाया था और तंज कसा था कि एक तरफ आदिवासी के घर में भोजन हो रहा था और दूसरी ओर छापेमारी की जा रही थी यह टाइमिंग है? सीबीआई ने दो महीने पहले भी पश्चिम बंगाल में विभिन्न स्थानों पर छापेमारी की थी। तब भारत-बांग्लादेश सीमा पर पशुओं की अवैध तस्करी के मामले में यह कार्रवाई की गई थी। ये छापे कोलकाता और मुर्शिदाबाद में मारे गए थे।

Rabindra Rai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned