कोलकाता सहित बंगाल में छूटेगी कंपकंपी

आकाश साफ होते ही महानगर में आज से लुढक़ेगा पारा-सर्दी का सितम क्रिसमस तक-सप्ताह के अंत तक 13 डिग्री से भी नीचे लुढक़ेगा पारा-दार्जिलिंग-कलिम्पोंग में बर्फबारी

By: Shishir Sharan Rahi

Published: 18 Dec 2018, 10:37 PM IST

कोलकाता. बंगाल की खाड़ी से उठे चक्रवाती तूफान ‘पेथाई’ के मंगलवार शाम तक बांग्लादेश में प्रवेश करने के बाद बुधवार से आकाश साफ होते ही कलकाता सहित पूरा बंगाल उत्तर-पश्चिमी सर्द हवा की चपेट में आ जाएगा। मौसम विभाग ने बुधवार से २५ दिसंबर तक कड़ाके की सर्दी पडऩे की चेतावनी दी है। अगले 4 दिनों के दौरान सर्दी असर दिखाएगी और सीमावर्ती इलाकों में तेज बारिश होगी। उधर दार्जिलिंग, कलिम्पोंग और कर्सियांग आदि स्थानों में सोमवार रात से बारिश के साथ ही बर्फबारी हुई, जिससे तापमान में 2 डिग्री सेल्सिस तक कमी आई। भारी संख्या में इन स्थानों में छुट्टियां मनाने आए सैलानियों को बर्फबारी के कारण आवागमन बाधित होने से काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। सडक़ें बर्फ से ढक गई हैं, जिससे आवाजाही बाधित हुई। क्षेत्रीय मौसम विभाग के निदेशक जीके दास ने बताया कि ‘पेथाई’ कमजोर होकर निम्न दबाव में बदलेगा और बुधवार से आकाश केसाफ होने के साथ ही पारा लुढक़ेगा। सर्द हवा के कारण कड़ाके की सर्दी पड़ेगी। दास ने कहा कि बुधवार से तापमान १३ डिग्री सेल्सियस पर पहुंच जाएगा। इस सप्ताह के अंत तक पारे के 13 डिग्री सेल्सियस से कम होने की भी संभावना है। मौसम विभाग के अनुसार अधिकतम तापमान में 5 डिग्री सेल्सियस तक गिरावट होगी। महानगर में सोमवार से जारी बूंदाबांदी का दौर मंगलवार दोपहर बाद थम गया। ‘पेथाई’ के कमजोर होते ही उत्तर भारत में शीतलहर शुरू हो गई। राजस्थान में चुरू और भीलवाड़ा में पारा शून्य के पास पहुंचा तो पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में अधिकतर शहरों में सुबह का तापमान 3 से 5 डिग्री के बीच रहेगा। उत्तर भारत के पहाड़ों से आने वाली सर्द हवाओं के लगातार चलने से अब कड़ाके की सर्दी पड़ेगी। बंगाल और झारखंड में मौसम शुष्क रहेगा। हालांकि कोलकाता सहित पूर्वी भारत के शहरों में कोहरे का प्रकोप बना रहेगा।

भूटान में मौसम की पहली बर्फबारी

उधर ‘पेथाई’ का असर सिलीगुड़ी सहित भूटान में भी पड़ा। भूटान में इस मौसम की पहली बर्फबारी के बाद राजधानी थिंपू और आसपास के इलाकों में बर्फ की सफेद चादर बिछी देख सैलानियों के चेहरे खिल उठे।

व्यवसाय पर भी पड़ा असर

बारिश ने एक ओर जहां सर्दी बढ़ाई, वहीं व्यवसाय पर भी इसका असर पड़ा। कोलकाता ही नहीं, बल्कि दुर्गापुर, आसनसोल सहित अनेक शहरों में 25 फीसदी दुकानें नहीं खुलीं और जो खुली उनमें ग्राहक नदारद थे। दुर्गापुर में बारिश के कारण तापमान में काफी गिरावट आई। ‘पेथाई’ के प्रभाव के कारण शिल्पांचल में बूंदाबांदी से जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ। बारिश और सर्दी के कारण लोगों के घरों में दुबके रहने से बाजार पर इसका खासा प्रभाव पड़ा। उधर दुर्गापुर में बादल-बारिश के कारण तापमान में काफी गिरावट आई। आसनसोल शहर में मॉल में सन्नाटा पसरा रहा।

Shishir Sharan Rahi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned