दमदम इलाके का कुख्यात अपराधी हाथकटा दिलीप गिरफ्तार

दमदम इलाके का कुख्यात अपराधी हाथकटा दिलीप गिरफ्तार

Ashutosh Kumar Singh | Publish: Sep, 10 2018 11:03:33 PM (IST) Kolkata, West Bengal, India

- कालिंदी इलाके के युवक को दी थी जान से मारने की धमकी
- लेकटाउन थाने की पुलिस ने दबोचा

कोलकाता

दमदम इलाके के कुख्यात अपराधी दिलीप वंद्योपाध्याय उर्फ हाथकटा दिलीप को लेकटाउन थाने की पुलिस ने रविवार रात को गिरफ्तार किया। दिलीप और उसके गुर्गों ने कालिंदी इलाके के निवासी त्रिनाथ दास नामक एक युवक को जान से मारने की धमकी दी थी। उक्त युवक ने इस संबंध में लेकटाउन थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी। विश्वसनीय सूत्रों से मिली सूचना के आधार पर मंगलवार रात दिलीप को गिरफ्तार किया गया। सोमवार को उसे अदालत में पेश किया गया। अदालत ने पुलिस हिरासत में उसे भेज दिया है। उससे पूछताछ की जा रही है। पुलिस उसके साथियों की तलाश कर रही है। दिलीप तीन बार जेल जा चुका है। वर्ष 2004 में वाममोर्चा के शासनकाल में नयापट्टी इलाके में तीन लोगों की हत्या के मामले में उसे उम्रकैद की सजा हुई थी। वर्ष 2011 में वह जमानत पर जेल से बाहर निकला था। जेल से आने के बाद दिलीप रंगदारी वसूली के साथ-साथ सिंडिकेट (भवन निर्माण सामग्री सप्लाई) और प्रमोटिंग के धंधे से जुड़ गया। रंगदारी और सिन्डिकेट और प्रमोटिंग के धंधे में दिलीप ने खूब कमाई की। इससे पहले वर्ष 1015 में रंगदारी मांगने और सिन्डिकेट

से संबधित मामले में लेकटाउन थाने की पुलिस ने दिलीप को गिरफ्तार किया था। 90 के दशक के अंत में दिलीप दमदम इलाके के तत्कालीन डॉन पिनाकी मित्रा का हाथ पकड़ अपराध की दुनिया में कदम रखा था। थोड़ी ही दिनों में वह इलका में मशहूर हो गया। फिर बॉस से विवाद के बाद उसने खुद की गैंग बना ली थी। उस समय दिलीप को माकपा के एक कदावर नेता का छत्रछाया प्राप्त था, लेकिन वर्ष 2004 में न्यापट्टी इलाके में हुई तीन लोगों की हत्या के मामले में माकपा नेता उसे बचा नहीं पाए। घटना को लेकर विधानसभा में जोरदार हंगामा हुआ। इसके बाद माकपा नेता मामले में चुप हो गए। फिर पुलिस ने दिलीप को गिरफ्तार किया था।

Ad Block is Banned