रॉयल बंगाल टाईगर के डर से कांप रहे हैं माध्यमिक परीक्षार्थी

रॉयल बंगाल टाईगर के डर से कांप रहे हैं माध्यमिक परीक्षार्थी

Renu Singh | Publish: Mar, 14 2018 06:13:01 PM (IST) Kolkata, West Bengal, India

माध्यमिक के प्रश्नपत्र नहीं बल्कि रॉयल बंगाल टाईगर के भय से पश्चिम मिदनापुर जिले के माध्यमिक परीक्षार्थी थर-थर कांप रहे हैं।

 

माध्यमिक के प्रश्नपत्र नहीं बल्कि रॉयल बंगाल टाईगर के भय से पश्चिम मिदनापुर जिले के माध्यमिक परीक्षार्थी थर-थर कांप रहे हैं। रॉयल बंगाल के आतंक को दूर करने के लिए बाघों के पदचिह्न वाले इलाकों में पहरा लगाया गया है। इसके साथ ही माईक से इसकी घोषणा की जा रही है। हाल ही में पश्चिम मिदनापुर व बाकुंड़ा के कुछ इलाकों में रॉयल बंगाल टाइगर के पैरों के निशान पाए गए हैं। लालगढ़, बांकुड़ा के सारंगा में बाघ की तस्वीरें कैद हुई थीं। जिला प्रशासन की ओर से बाघों की खोज में ड्रोन की सहायता भी ली जा रही है। रविवार को बांकुड़ा के कारभांगा, खयेर पहाड़ी, कयमा, सालूका जंगल में ड्रोन के माध्यम से बाघ की तलाशी चल रही है। जिला पुलिस और वन विभाग के अधिकारियों को अब तक बाघ पकडऩे में कोई सफलता नहीं मिली है। माध्यमिक परीक्षा में परीक्षार्थी काफी तनाव में हैं साथ ही बाघों के आतंक ने उनके भय को भय को कई गुना बढ़ा दिया गया है।

100 स्कूलों के परीक्षार्थी संकट में

पश्चिम मिदनापुर के लालगढ़, सरंगा और ग्वालतोड़ के इलाके में लगभग 100 स्कूल हैं। इस सभी स्कूलों में माध्यमिक परीक्षा के केन्द्र है। केन्द्रों में परीक्षा देने जा रहे परीक्षार्थी और अभिभावक की जान संकट में फंसी हैं। पहले से ही विद्यालयों की ओर से जिला प्रशासन ने सुरक्षा देने का अनुरोध किया है। वन विभाग ने इस काम में फॉरेस्ट प्रोटेक्शन कमेटी के सदस्यों को लगाया है। मिदनापुर के डिवीजनल फॉरेस्ट ऑफिसर रवींद्र नाथ साहा ने कहा परीक्षार्थियों को किसी भी प्रकार की चिंता नहीं करनी चाहिए। फॉरेस्ट प्रोटेक्शन कमेटी के सदस्य सुरक्षा व्यवस्था मुहैया कराने का काम कर रहे हैं।

मालूम हो कि पश्चिम बंगाल माध्यमिक शिक्षा पर्षद की ओर से राज्यभर में कक्षा 10वीं की माध्यमिक परीक्षा-2018, 12 मार्च से शुरू हो गई है। इस परीक्षा में कुल 1102921 परीक्षा देंगे। इस बार छात्राओं की संख्या 621001 है व छात्रों क ी संख्या 481947 है। राज्यभर में कुल 2819 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं। माध्यमिक परीक्षा के लिए सबसे अधिक परीक्षा केन्द्र कोलकाता में बनाएं गए हैं। कोलकाता में कुल 1198 परीक्षा केन्द्र बनाए गएं हैं।

Ad Block is Banned