West Bengal: ‘जय श्री राम’ नहीं बोलने पर मदरसा शिक्षक को चलती टे्रन से फेंका

West Bengal: ‘जय श्री राम’ नहीं बोलने पर मदरसा शिक्षक को चलती टे्रन से फेंका

Ashutosh Kumar Singh | Publish: Jun, 25 2019 10:23:36 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

  • 26 साल के मदरसा शिक्षक ने दावा किया है कि उसे एक समूह ने जय श्री राम ना कहने पर मारा-पीटा और चलती ट्रेन से धक्का दे दिया। घटना के संबंध में बालीगंज जीआरपी में शिकायत दर्ज कराई है। जीआरपी अधिकारियों का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है।

कोलकाता

पश्चिम बंगाल (West Bengal) में ‘जय श्री राम’ (Jai Shree Ram) नहीं बोलने को लेकर एक मदरसा शिक्षक को कथित रूप से मारने पीटने तथा धक्का देकर चलती ट्रेन से फेंकने का मामला सामने आया है। 26 साल के मदरसा शिक्षक ने दावा किया है कि उसे एक समूह ने जय श्री राम ना कहने पर मारा-पीटा और चलती ट्रेन से धक्का दे दिया। मोहम्मद शाहरुख हलदर नाम शिक्षक के अनुसार यह घटना गुरुवार की है। वह दक्षिण 24 परगना जिले के कैनिंग से हुगली जा रहा था। वह कैनिंग-सियालदह लोकल (ट्रेन नंबर 34531) मे सवार था, तभी ट्रेन के के डिब्बे में ‘जय श्री राम’ का नारा लगाते कुछ यात्री सवार हुए। समूह के लोगों ने उसे भी जय श्री राम बोलने को कहा। जब वह मना किया, तो उन्होंने मेरे साथ मारपीट शुरू कर दी, कोई उसके बचाव में नहीं आया। ढाकुरिया और पार्क सर्कस स्टेशन के समूह के युवकों ने उसे धक्का देकर चलती ट्रेन से नीचे गिरा दिया। बाद में कुछ स्थानीय लोगों ने उसकी मदद की। फिर उसने अपना इलाज कराया। हलदार दक्षिण 24 परगना जिले के बसंती के रहने वाले हैं। घटना के संबंध में बालीगंज जीआरपी में शिकायत दर्ज कराई है। जीआरपी अधिकारियों का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। अभी तक कोई ठोस सुराग नहीं मिला है। फिलहाल वे इस बारे में कुछ नहीं बोल सकते। रेलवे पुलिस ने कहा है कि हमलावरों की पहचान के बाद उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। हलदार ने तपसिया थाने की पुलिस पर मामला दर्ज नहीं करने का आरोप लगाया है। हल्दर ने कहा कि घटना के बाद वह जब प्राथमिकी दर्ज कराने तपसिया पुलिस स्टेशन गया तो उसे यह कह कर लौटा दिया गया कि ये मामला जीआरपी का है। मामला जीआरपी में दर्ज होगा।
उल्लेखनीय है कि हाल ही में झारखंड में ‘जय श्री राम’ नहीं बोलने को लेकर एक युवक को कथित रूप से पीट-पीट कर मार दिए जाने की घटना सामने आई है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned