नन्दोत्सव पर सवा लाख रुद्राक्ष से सजा घुसुड़ीधाम दरबार

नन्दोत्सव पर सवा लाख रुद्राक्ष से सजा घुसुड़ीधाम दरबार

Shishir Sharan Rahi | Publish: Sep, 10 2018 10:36:25 PM (IST) Kolkata, West Bengal, India

अद्भुत झांकी के दर्शन को सुबह से लगी भक्तों की कतार -भजनामृत वर्षा में झूमे श्रद्धालु

हावड़ा. पूर्वी भारत में श्याम भक्तों की आस्था का प्रमुख केन्द्र श्याम मंदिर घुसुड़ीधाम में सोमवार को अद्भुत, अकल्पनीय व अद्वितीय नजारा देखने को मिला। बाबा श्याम को सजाने से लेकर प्रसाद-अर्पण के अभिनव आयोजनों के लिए चर्चित श्याम मंदिर घुसुड़ीधाम दरबार को नन्दोत्सव अवसर पर सवा लाख रुद्राक्षों से इस तरह सजाया गया कि जिसने भी देखा वह हतप्रभ रह गया। मंदिर में विराजमान राधाकृष्ण, दुर्गा, हनुमान, शिव परिवार, राणीसती, देवसर भवानी, जीणमाता और शाकम्भरी माता को भी सजाया गया था। सुबह ज्योंहि मंदिर के कपाट खुले भक्तों की भीड़ उमड़ी और शाम को नंदोत्सव शुरू होने के बाद मंदिर श्रद्धालुओं से इस तरह पट गया कि तिल रखने की जगह भी नहीं रही। श्रृंगार के सहयोगी-संयोजक कपिल संगीता अग्रवाल ने कहा कि यह भारत के इतिहास में पहला मौका है जब किसी श्याम मंदिर को सवा लाख रुद्राक्षों से सजाया गया हो। मंदिर के प्रबंध न्यासी विनोद कुमार टिबड़ेवाल ने बताया कि श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ सवा लाख रुद्राक्षों का यह श्रृंगार अगले कुछ दिनों तक यथावत् रहेगा जिससे अधिकाधिक भक्त इसके दर्शन का लाभ ले सकें। इस अवसर पर शुभकरण करनानी, महेन्द्र लाठ, संजय-हंसा अग्रवाल सहित अनेक लोग उपस्थित थे। नन्दोत्सव में आयोजित भजनामृत वर्षा का शुभारम्भ मनोज बालासिया ने किया और रवि बेरीवाल, मोनू सुल्तानिया, रवि शर्मा सूरज, लव अग्रवाल सहित कई गायकों व श्याम मित्र मण्डल, श्याम मण्डल (नूतन बाजार), जयश्री श्याम सरोवर, श्याम कृपा मण्डल (बड़ाबाजार), बालाजी जागरण मण्डल, मां विंध्यवासिनी भक्त मण्डल ने श्याम गुणगान कर भक्तों को भाव-विभोर कर दिया। श्रद्धालुओं को माखन-मिश्री का प्रसाद व खेल-खिलौने वितरित किए गए। देर रात आरती के साथ आयोजन सम्पन्न हुआ। विनोद टिबड़ेवाल, नवल सुल्तानिया, सुरेन्द्र अग्रवाल, किशन कासुका, वरुण अग्रवाल, कपिल अग्रवाल, मनोज अग्रवाल, शिवप्रकाश परसरामपुरिया, सांवरमल अग्रवाल, राजेश-मनीषा सिंघानिया, पवन गर्ग, अविनाश अग्रवाल, संजय टिबड़ेवाल, देवेन्द्र कासुका, मुकेश कानोडिय़ा, राजेश अग्रवाल आदि का योगदान रहा।

 

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned