दार्जिलिंग चिड़ियाघर में तीन हिम तेंदुओं का हुआ जन्म

दार्जिलिंग में पद्मजा नायडू जूलॉजिकल पार्क अथॉरिटी की देखरेख में तीन स्नो लेपर्ड शावकों का जन्म हुआ है।

By: Vanita Jharkhandi

Published: 14 Apr 2021, 06:22 PM IST


दार्जिलिंग
दार्जिलिंग में पद्मजा नायडू जूलॉजिकल पार्क अथॉरिटी की देखरेख में तीन स्नो लेपर्ड शावकों का जन्म हुआ है। कुछ समय के लिए, उन्हें चिड़ियाघर से थोड़ी दूरी पर, टोबेग दारा क्षेत्र में जाल से घिरे एक प्राकृतिक वातावरण में रखा गया है। राज्य के मुख्य वन रेंजर विनोद कुमार यादव ने इसकी जानकारी दी। विनोद कुमार ने कहा, “पद्मजा नायडू जूलॉजिकल पार्क के जिमा ने सोमवार को 3 शावकों को जन्म दिया है। मां और बच्चे पूरी तरह से स्वस्थ हैं। हालांकि, चिड़ियाघर के कर्मचारी दूर से उन पर कड़ी नजर रख हैं। मुख्य वन अधिकारी के अनुसार, 3 बच्चों के जन्म के परिणामस्वरूप, स्नो लेपर्ड की संख्या 12 हो गई है। सत्तर के दशक के अंत में, पद्मजा नायडू जूलॉजिकल पार्क में एक हिम तेंदुआ प्रजनन परियोजना शुरू की गई थी। कुछ साल बाद सफलता मिलती है। आईयूसीएन रेड लिस्ट में एक 'लुप्तप्राय' प्रजाति के रूप में पहचाना गया। दुनिया में इनकी अनुमानित संख्या 10 हजार से कम है। बर्फ से ढके पहाड़, मुख्य रूप से चीन, मंगोलिया और दक्षिण एशियाई देशों में, बर्फ से ढके हुए हैं। अधिकारी ने यह भी बताया कि चिड़ियाघर में पैदा हुए तीन शावकों को बाद में खुले प्राकृतिक वातावरण में वापस लाने की योजना है। इसके अलावा, दार्जिलिंग चिड़ियाघर के अधिकारियों ने एक अन्य लुप्तप्राय प्रजाति, जंगली पांडा लाल पांडा का प्रजनन करने में भी कामयाबी हासिल की है। तब से कई लाल पांडा जंगली में सफलतापूर्वक विचरते देखा जा चुके हैं।

Vanita Jharkhandi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned