WEST BENGAL MAJERHAT ROB--माझेरहाट पुल प्रकरण में मंत्री और रेलवे ने लगाया एक-दूसरे पर आरोप

मंत्री ने उद्घाटन में देरी के लिए रेलवे अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराया, तो रेलवे ने मंत्री के आरोपों को किया खारिज

By: Shishir Sharan Rahi

Published: 27 Nov 2020, 07:49 PM IST

BENGAL NEWS कोलकाता। नवनिर्मित माझेरहाट पुल प्रकरण में मंत्री और रेलवे ने एक-दूसरे पर आरोप लगाया है। जहां पश्चिम बंगाल के लोक निर्माण (पीडब्ल्यूडी) मंत्री अरूप विस्वास ने नवनिर्मित माझेरहाट पुल के उद्घाटन में देरी के लिए रेलवे अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि अधिकारी इससे संबंधित आवश्यक मंजूरी नहीं दे रहे। उधर रेलवे ने मंत्री के इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि राज्य के पीडब्ल्यूडी विभाग से आवश्यक सुरक्षा प्रमाणपत्र मिलना बाकी है। रेलवे ट्रैक के ऊपर माझेरहाट पुल का एक हिस्सा 4 सितंबर 2018 को ध्वस्त हो गया था। हादसे में २ लोगों की मौत हो गई थी। बाद में पुल को ढहा दिया गया और उसके स्थान पर नए पुल का निर्माण किया गया। इस पुल के अगले माह तक शुरू होने की उम्मीद है। मंत्री विस्वास ने नए पुल को तत्काल खोलने की मांग के लिए रैली करने का आह्वान करने वाले भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव एवं राज्य प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय की आलोचना कर कहा कि निर्माण कार्य में इसलिए देरी हुई क्योंकि रेलवे ने मंजूरी देने में ९ माह का वक्त लगाया। उन्होंने कहा कि एक बार रेलवे से मंजूरी मिल जाए, इसके बाद नवनिर्मित पुल को आम जनता के लिए खोल दिया जाएगा। पीडब्ल्यूडी ने रेलवे को 24 नवंबर को रेलवे सुरक्षा की मंजूरी के लिए पत्र लिखा था और विभाग को अभी भी इसका इंतजार है।
-----ईस्टर्न रेलवे ने रिपोर्ट में ये कहा
ईस्टर्न रेलवे की ओर से 27नवंबर को जारी रिपोर्ट में कहा गया कि कुछ मीडिया में छपी खबर में बताया गया है कि माझेरहाट रोड ओवरब्रिज (आरओबी) के खुलने में देरी के लिए रेलवे जिम्मेदार है। रिपोर्ट में कहा गया कि माझेरहाट आरओबी के फिर से निर्माण के विकास/ स्थिति का संकेत देने वाले बिंदुओं को समस्या की स्पष्ट प्रशंसा के लिए यहां रखा गया है। इसके मुताबिक माझेरहाट आरओबी सितंबर, 2018 में रखरखाव की विफलता के कारण स्पष्ट रूप से ढह गया। संरचना पीडब्ल्यूडी के रखरखाव के अधीन थी।
ईस्टर्न रेलवे के बार-बार अनुरोध करने के बावजूद माझेरहाट आरओबी के संरेखण को अंतिम रूप देने से पहले प्रस्तावित माझेरहाट आरओबी के उल्लंघन के संबंध में आरवीएनएल/मेट्रो की अनुमति प्राप्त करने के लिए पीडब्ल्यूडी द्वारा देरी की गई। रेलवे ने ट्वीट कर कहा है कि आरओबी (रेल के ऊपर बने पुल) को खोलने से पहले की सारी कोडल औपचारिकताएं पूरी हो गई हैं। पीडल्यूडी से आवश्यक सुरक्षा प्रमाणपत्र शीघ्र मिलने की उम्मीद है। रेलवे के साथ और कोई मुद्दा लंबित नहीं है।

Shishir Sharan Rahi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned