Political game: झूठ क्यों बोल रही हैं केन्द्रीय वित्तमंत्री , मैने दे दी सारी जानकारी

वित्तमंत्री अमित मित्रा ने कहा कि केन्द्रीय वित्त मंत्री इतना बड़ा झूठ क्यों बोल रही हैं। उन्होंने केन्द्र सरकार को प्रवासी श्रमिक संबंधित सारी जानकारी दे दी है। गरीब कल्याण रोजगार योजना के तहत देश के 16 जिलों में बंगाल के जिलों को क्यों शामिल नहीं किया गया।

By: Manoj Singh

Published: 30 Jun 2020, 10:26 AM IST

बंगाल के वित्तमंत्री ने प्रवासी श्रमिकों के बारे में केन्द्रीय वित्तमंत्री से पूछा सवाल
कोलकाता
केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह के बाद रविवार को केन्द्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमन ने पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी की सरकार पर राज्य के प्रवासी श्रमिकों से संबंधित जानकारी नहीं देकर उन्हें केन्द्रीय योजना से मिलने वाले लाभ से वंचित रहने का आरोप लगाया था। इसके जवाब में सोमवार को राज्य के वित्तमंत्री अमित मित्रा ने केन्द्रीय वित्तमंत्री सीतारमन पर झूठ बोलने का आरोप लगाया।
उन्होंने कहा कि केंद्रीय वित्त मंत्री झूठ बोल रही हैं। उन्होंने केन्द्र सरकार को प्रवासी श्रमिक संबंधित सारी जानकारी दी है। केन्द्रीय वित्त मंत्री इतना बड़ा झूठ क्यों बोल रही हैं। उल्टे उन्होंने केन्द्रीय वित्तमंत्री सीतारमन से सवाल किया कि गरीब कल्याण रोजगार योजना के तहत देश के 16 जिलों को का चयन किया गया। उनमें पश्चिम बंगाल के एक भी जिले को क्यों नहीं शामिल किया गया है।
निर्मला सीतारमन ने केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार-2 के एक साल पूरे होने पर रविवार को कोलकाता क्षेत्र के लिए आयोजित आभासी रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि प्रवासी श्रमिकों के गृह क्षेत्र में ही उन्हें रोजगार देने के लिे पीएम मोदी ने देश के 116 जिलों के लिए 50 हजार करोड़ की गरीब कल्याण रोजगार योजना बनाई है। लेकिन ममता बनर्जी की सरकार ने राज्य के प्रवासी श्रमिकों के आंकड़े नहीं दे कर उन्हें इस योजना से वंचित किया है।
सीतारमन के इस बयान के जवाब में तृणमूल कांग्रेस के राज्यसभा सांसद डेरेक ब्रायन ने ट्वीट कर कहा कि अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने के बजाय असफल केन्द्रीय वित्त मंत्री भाजपा को बंगाल में डूबने से बचाने के लिए सीएए, अनुच्छेद 370, कोरोना और अंपुन जैसे मुद्दों को उठा रही हैं। लेकिन रविवार को अपने भाषण में निर्मला सीतारमन ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में असामान्य वृद्धि के बारे में एक शब्द भी नहीं कहा। जब वे राज्य में सत्ता में आए, तब भी उन्होंने मौद्रिक नीति में कोई दिशा नहीं दिखाई। राज्य में बढ़ रही बेरोजगारी के संदर्भ में राज्य के वित्त मंत्री अमित मित्रा ने कहा कि केन्द्रीय वित्त मंत्री वित्तीय सहायता के बारे में झूठ बोल रही हैं। वे पहले कभी 23 प्रतिशत बेरोजगारी के बारे में नहीं सुने हैं। अकेले बंगाल में बेरोजगारी की दर 18 प्रतिशत है। दिन-ब-दिन पत्र लिखने के बावजूद केंद्र ने कोरोना से निपटने में मदद नहीं की।

Union Finance Minister Nirmala Sitharaman
Manoj Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned