Politics on Sonar Bangla: क्या सोनार बांग्ला’ बनाने में भाजपा की मदद कर पाएंगे प्रवासी बंगाली ?

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव व पश्चिम बंगाल प्रदेश भाजपा के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि पश्चिम बंगाल के विकास करने और इसे सोनार बांग्ला बनाने के लिए भावी योजना बनाने में उनकी पार्टी प्रवासी बंगालियों की भी मदद लेगी। लेकिन सवाल है कि बंगाल से जाकर दूसरे देशों में जाकर बस गए हैं वे प्रवासी बंगाली इस राज्य की स्थिति सुधारने के लिए क्यों रूची दिखा रहे हैं? वे कौन है और क्या वे बंगाल को सोनार बांग्ला बनाने में भाजपा की मदद कर पाएंगे?

By: Manoj Singh

Published: 30 Sep 2020, 03:37 PM IST

बंगाल को उबराने में सहयोग देने के लिए क्यों उत्सुक हैं दूसरे देश में रहने वाले बंगाल के लोग?
कोलकाता :
भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव व पश्चिम बंगाल प्रदेश भाजपा के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि पश्चिम बंगाल के विकास करने और इसे सोनार बांग्ला बनाने के लिए भावी योजना बनाने में उनकी पार्टी प्रवासी बंगालियों की भी मदद लेगी। लेकिन सवाल है कि बंगाल से जाकर दूसरे देशों में जाकर बस गए हैं वे प्रवासी बंगाली इस राज्य की स्थिति सुधारने के लिए क्यों रूची दिखा रहे हैं? वे कौन है और क्या वे बंगाल को सोनार बांग्ला बनाने में भाजपा की मदद कर पाएंगे?
बंगाल की वर्तमान स्थिति एवं भविष्य की योजनाओं को लेकर आयोजित वेबिनार में विजयवर्गीय ने हिस्ला लिया, जिसमें दुनिया के 10 देशों में बसे 40 प्रवासियों ने हिस्सा लिया। इसका आयोजन ‘बांग्ला आमार वेबसाइट’ की संस्थापक कंचन बनर्जी की ओर से आयोजित किया गया था और प्रमित मकोडे ने अतिथियों से परिचय कराया। सोमवार को ट्वीट कर इसकी जानकारी देते हुए विजयवर्गीय ने कहा कि बंगाल शुरू से ही प्रतिभाओं से भरा हुआ राज्य रहा है। बंगाल की विभूतियों ने देश एवं विदेश में न केवल बंगाल वरन पूरे देश का नाम ऊंचा किया है। अभी भी विश्व के विभिन्न देशों में बड़ी संख्या में प्रवासी बंगाली रहते हैं। वे बंगाल की वर्तमान स्थिति को लेकर चिंतित और दुखी हैं। उनकी चिन्ता इस बात की है कि कभी बंगाल की पूरे देश में सबसे आगे था आज उस बंगाल में कोई नया उद्योग नहीं लग रहा है, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा नहीं है और इसका स्तर दिनों-दिन खराब हो रहा है। शिक्षा का राजनीतिकरण और राजनीति का अपराधीकरण हो गया है।
विजयवर्गीय ने कहा कि प्रवासी बंगाली समुदाय बंगाल की वर्तमान स्थिति से उबराने में सहयोग देने के लिए उत्सुक हैं। भाजपा भी बंगाल के विकास में इनका सहयोग लेगी और विकास की योजनाएं बनाएगी। शिक्षाविद और उद्योग से जुड़े प्रवासी बंगालियों से भाजपा मागदर्शन लेकर नयी शिक्षा नीति एवं औद्योगिक नीति के साथ ही अगले 25 वर्षों में बंगाल कैसा होगा इसके लिए विकास योजनाएं बनायेगी?

Show More
Manoj Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned