इतना आसान नहीं आईएसओ प्रमाणपत्र, थाने में टीम पहुंचकर ऐसे कर रही जांच, पढि़ए खबर...

Shiv Singh

Publish: Sep, 17 2017 10:36:27 (IST)

Korba, Chhattisgarh, India
इतना आसान नहीं आईएसओ प्रमाणपत्र, थाने में टीम पहुंचकर ऐसे कर रही जांच, पढि़ए खबर...

- शनिवार को आईएसओ की टीम ने दर्री थाने का  किया निरीक्षण

कोरबा. दर्री, उरगा, कटघोरा और पाली थाने को आईएसओ प्रमाणपत्र दिलाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। थाने में उपलब्ध संसाधन और स्टॉफ के व्यवहार की जांच करने आईएसओ की टीम कोरबा पहुंची है।
शनिवार को आईएसओ की टीम ने दर्री थाने का निरीक्षण किया। थाने में दर्ज मामले, जांच का स्तर, थाने के रिकार्ड रूम, बंदी गृह, स्टॉफ रूम और सीसीटीएनएस सहित सभी पहलुओं पर बारीकी से छानबीन की। थाने में आने वाले लोगों से पुलिस के व्यवहार को भी जाना। करीब 9.30 बजे से 11 बजे तक दर्री थाने में ठहरने के बाद टीम उरगा थाने का निरीक्षण करने पहुंची। टीम ने शुक्रवार शाम पाली थाने का निरीक्षण किया।

शनिवार को कटघोरा थाने की छानबीन की। आईएसओ प्रमाण पत्र की दौर में दर्री सबसे आगे चल रहा है। पुलिस ने राष्ट्रीय राजमार्ग और हाइवे पर स्थित चार थानों को आईएसओ सर्टिफाइड कराने की प्रक्रिया शुरू की है। इसके लिए करीब छह माह से प्रयास किए जा रहे हैं। टीम के पहुुंचने से पहले पुलिस अधिकारी समेत स्टॉफ अपने व्यवहार, थाने का रिकार्ड रूम, स्टॉफ रूम आदि को व्यवस्थित कर लिये थे।

थानों की व्यवस्था में सुधार किया जा रहा है। टीम में सेवानिवृत्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश टी के झा, अविन्द्र रस्तोगी और अंशुमान झा शामिल हैं। एएसपी तारकेश्वर पटले ने बताया कि टीम करीब चार माह पहले भी कोरबा आई थी। तब टीम ने आईएसओ प्रमाणपत्र के लिए थाने में जरूरी व्यवस्था की जानकारी दी थी। इस पर कितना काम हुआ है? इसकी छानबीन करने के लिए टीम कोरबा पहुंची है।

थानों को आईएसओ प्रमाण पत्र से नवाजने के लिए एसपी डी श्रवण की देखरेख में काम किया गया है। इसके लिए पूर्व सीएसपी सुखनंदन राठौर को नोडल अधिकारी बनाया गया था। टीम द्वारा थाने का निरीक्षण किया गया है, लेकिन थाने को आईएसओ प्रमाण पत्र मिल पाता है या नहीं ये तो टीम ही तय करेगी। विभाग को टीम के निर्णय का इंतजार है। 

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned