छात्रनेता की रिहाई के लिए लामबंद हुए जोगी समर्थक, एसपी ऑफिस घेरकर सौंपा ज्ञापन

Rajkumar Shah

Publish: Oct, 13 2017 08:08:53 PM (IST)

Korba, Chhattisgarh, India
छात्रनेता की रिहाई के लिए लामबंद हुए जोगी समर्थक, एसपी ऑफिस घेरकर सौंपा ज्ञापन

छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस छात्र संगठन के जिला अध्यक्ष दीपक वर्मा की रिहाई के लिए जिले के जोगी समर्थक लामबंद हो गए हैं।

कोरबा. छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस छात्र संगठन के जिला अध्यक्ष दीपक वर्मा की रिहाई के लिए जिले के जोगी समर्थक लामबंद हो गए हैं।

दीपक द्वारा सांसद डॉ बंशीलाल महतो के विरूद्ध सोशल मीडिया पर अभद्र टिप्प्णी के बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

इसके बाद शुक्रवार को जिले के जनता कांग्रेस के छात्र विंग सहित सभी प्रमुख पदाधिकारियों ने एसपी कार्यालय का घेराव कर नारेबाजी करते हुए एसपी डी श्रवण को दीपक वर्मा की नि: शर्त रिहाई के लिए ज्ञापन सौंपा है। इसके साथ जनता कांग्रेस के शहर अध्यक्ष रंजीत सिंह ने एसपी से विपीन चौधरी और दीपक साहू नामक दो युवकों की शिकायत की है।

शिकायती पत्र में उल्लेख किया गया है कि इन दोनो युवकों द्वारा दीपक वर्मा के खिलाफ सोशल मीडिया पर भद्दी टिप्पणी की गई है। इसलिए इन दोनो युवकों पर भी ठोस कार्रवाई की जानी चाहिए।


इन दो ज्ञापनों के साथ ही प्रदेश महासचिव अर्चना उपाध्याय ने भी एक ज्ञापन सौंपा है। जिसमें सांसद द्वारा महिलाओं के लिए टनाटन वाले बयान का उल्लेख किया है। अर्चना मे ज्ञापन मे उल्लेख किया है कि कोतवाली पुलिस द्वारा महिलाओं द्वारा दिए गए इस अपमानजनक बयान के लिए सांसद पर मामला दर्ज नहीं किया जा रहा है।

बार-बार कोतवाली जाने के बाद भी मामला दर्ज नहीं करने का कोन न कोई बहाना बनाया जा रहा है। इस प्रदर्शन के दौरा पवन अग्रवाल, शिव अग्रवाल सहित जनता कांग्रेस के पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे।

इधर केएन कॉलेज में विरोधी गुट का प्रदर्शन- दीपक वर्मा की रिहाई के लिए कॉलेज से ही रैली निकाली गई थी। इस रैली मे कॉलेज के छात्र भी शामिल हुए। इसके विरोध मे अनुराग शर्मा सहित एबीवीपी के पदाधिकारियों ने कॉलेज में नारेबाजी की। विरोधी छात्रों का कहना है कि छात्रों को जबरन रैली में शामिल होने के लिए बाध्य किया जा रहा है।

यहां से हुआ विवाद- 22 अगस्त को सांसद आवास के बाहर जोगी समर्थकों ने धरना प्रदर्शन किया था। सांसद डॉ. बंशीलाल महतो के खिलाफ नारेबाजी की थी। पुलिस ने छात्रों पर धक्का मुक्की का आरोप लगाया था।

महिला हवलदार जलवेश कंवर की रिपोर्ट पर छात्रों के खिलाफ गैरकानूनी तरीके से सड़क को बाधित करना, सरकारी काम में बाधा डालना और पुलिस कर्मियों से अभद्र व्यवहार सहित अन्य धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया था। मामले की जांच के बाद पुलिस ने नौ अक्टूबर को दीपक वर्मा सहित सात छात्रनेताओं को गिरफ्तार किया था। इन्हें कोर्ट मेें पेश किया गया था। कोर्ट से बेल मिलने पर सभी को पुलिस ने रिहा कर दिया था।

जमानत पर रिहा होने की खुशी मेें आरोपियों ने केक काटकर जश्न मनाया था। इसमें दीपक नाम के युवक ने फेसबुक पर सांसद के खिलाफ अभद्र टिप्पणी और भड़काउ बयान दिया था। इसके पहले दो अक्टूबर को सांसद डॉ बंशीलाल महतो ने भी दो अक्टूबर को दंगल कार्यक्रम मे महिलाओं के लिए टनाटन शब्द का इस्मेमाल किया था। जिसके बाद इस बयान ने न सिर्फ प्रदेश बल्कि देश भर मे खूब सुर्खियां बटोरी।

छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस छात्र संगठन
Ad Block is Banned