धान खरीदी : चुनाव कार्य में अधिकारी व्यस्त, मिलरों से अनुबंध अभी तक नहीं हुआ पूरा

-अब तक जिले के कुल 86 राइस मिलर्स में से सिर्फ 50 का ही सत्यापन पूरा हो सका है

By: Shiv Singh

Published: 15 Nov 2018, 11:47 AM IST

कोरबा. धान खरीदी शुरू हुए 14 दिन का समय बीत चुका है। लगभग छ: हजार क्विंटल धान की खरीदी भी हो चुकी है, लेकिन राइस मिलरों से अनुबंध अभी तक नहीं हुआ है। चुनाव से जुड़े कार्य में व्यस्त होने के कारण जिम्मेदार अधिकारी इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं।

यही वजह है कि अब तक मिलर्स द्वारा आवेदन प्रस्तुत किए जाने के बाद भी भौतिक सत्यापन का कार्य अधूरा है। अब तक जिले के कुल ८६ राइस मिलर्स में से सिर्फ ५० का ही सत्यापन पूरा हो सका है। जबकि केवल ५० मिलरों के मिलों का भौतिक सत्यापन ही हो सका है।

दरअसल नियमानुसार धान खरीदी प्रारंभ होते ही अनुबंध आदि की सभी औपचारिकताएं पूरी कर ली जाना चाहिए। खरीदी के साथ ही साथ उठाव भी प्रारंभ किए जाने का नियम है, लेकिन फिलहाल एक मिलर्स के संस्थानों में फूड इंस्पेक्टरों ने भौतिक सत्यापन नहीं किया है।

फूड इंस्पेक्टर की ड्यूटी बेरियर में
धान उठाव के लिए अनुबंध की प्रक्रिया पूरी करने राइस मिलर्स ने विभाग के समक्ष आवेदन प्रस्तुत कर दिया है। आवेदन में जितनी मात्रा में मिलिंग की क्षमता का मिलर उल्लेख करते हैं। उसका खाद्य विभाग के फूड इंस्पेक्टर भौतिक सत्यापन करते हैं। समस्या यह है कि वर्तमान में सभी फूड इंस्पेक्टर की ड्यूटी बेरियर में लगा दी गई है। जिससे वह मिलर्स का भौतिक सत्यापन नहीं कर पा रहे है। जिसके कारण अनुबंध की प्रक्रिया अधूरी है। अनुबंध के बिना उपार्जन केन्द्रों से धान उठाव नहीं किया जा सकता है।

Read More : जो राम का नहीं वो हमारे किसी काम का नहीं, मंदिर निर्माण में कांग्रेस को बताया सबसे बड़ी बाधा, योगी ने ये भी कहा...

कई केन्द्र कम धान में ही हो जाते हैं चोक
जिले में २७ सहकारी समितियों के कुल ४१ धान उपार्जन केन्द्र हैं। अधिकतर केन्द्रों का बफर स्टॉक महज दो से तीन हजार क्विंटल है। जोकि दो हजार धान खरीदी के बाद ही चोक हो जाते हैं। ऐसे केन्द्रों से खरीदी के साथ धान उठाव नहीं हुआ तो परेशानी बढ़ सकती है।

-राइस मिलरों से अनुबंध का कार्य प्रक्रिया में है। धान खरीदी का कार्य ठीक तरह से चल रहा है। उठाव भी सही समय पर होगा।
एच मसीह, खाद्य अधिकारी

Shiv Singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned