ऑनलाइन कारोबार को टक्कर देने को तैयार खुदरा व्यापारी

कोरोना संक्रमण व लॉकडाउन के कारण काफी आर्थिक नुकसान झेल चुके खुदरा व्यापारी त्योहारी सीजन को लेकर पूरी तरह तैयार हैं। विभिन्न खुदरा कारोबार से जुड़े व्यापारियों ने कमर कस ली है। साथ ही, ऑनलाइन शॉपिंग कारोबार को भी टक्कर देने को खुदरा व्यापारी तैयार हैं। खुदरा व्यापारी होम डिलीवरी, डिजिटल भुगतान, उपहार सहित बम्पर छूट जैसी सुविधाएं देकर ग्राहकों को आकर्षित करने की तैयारी में हैं।

By: Haboo Lal Sharma

Published: 13 Sep 2021, 09:29 PM IST

कोटा. कोरोना संक्रमण व लॉकडाउन के कारण काफी आर्थिक नुकसान झेल चुके खुदरा व्यापारी त्योहारी सीजन को लेकर पूरी तरह तैयार हैं। विभिन्न खुदरा कारोबार से जुड़े व्यापारियों ने कमर कस ली है। साथ ही, ऑनलाइन शॉपिंग कारोबार को भी टक्कर देने को खुदरा व्यापारी तैयार हैं। खुदरा व्यापारी होम डिलीवरी, डिजिटल भुगतान, उपहार सहित बम्पर छूट जैसी सुविधाएं देकर ग्राहकों को आकर्षित करने की तैयारी में हैं। उनका कहना है कि कोरोना काल व ऑनलाइन कम्पनियों से खुदरा व्यापरियों ने बहुत कुछ सीखा है। इस त्योहारी सीजन में 50 से 60 प्रतिशत व्यापार वृद्धि की उम्मीद है। राज्य सरकार बाजारों पर लगा रखे प्रतिबंधों को हटा ले तो सीजन में जमकर खरीदारी होगी। ई-कॉमर्स कम्पनियों का रिटेलर्स पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। ग्राहक खरीदारी करने दुकान पर ही जाता है, क्योंकि दुकान से खरीदे सामान की गारंटी होती है, जबकि ऑनलाइन सामान खरीदने पर लोग कम विश्वास करते हैं।

Read More: कोटा मंडी 13 सितबर 21: सोयाबीन, सरसों, धनिया व उड़द में मंदी रही


खुदरा व्यापारी दे रहे सुविधाएं

- नि:शुल्क होम डिलीवरी की सुविधा।
- डिजिटल भुगतान की व्यवस्था।
- हाथों-हाथ लोन सुविधा।
- खरीद पर आकर्षक उपहार।
- 10 से 50 प्रतिशत तक छूट।

ग्राहक की पहली पसंद ऑफलाइन खरीदारी
ऑनलाइन की बजाय ऑफलाइन खरीदारी करने में बड़ा अंतर विश्वसनीयता का है। ग्राहक खरीदारी खुशी के लिए करता है, जबकि ऑनलाइन में जब तक माल सही नहीं मिल जाता, हमेशा टेंशन बनी रहती है। धोखा खाने के बाद ग्राहक वापस ऑफलाइन की तरफ ही आता है। कोरोना काल के बाद ग्राहकी का रुझान बढ़ा है। राज्य सरकार पाबंदियां हटा ले तो इस त्योहारी सीजन में खुदरा कारोबार से काफी उम्मीदें हैं।
- वैभव मोहता, कपड़ा व्यापारी, कोटा

100 किमी तक डिलीवरी की फ्री सुविधा
फेस्टिवल सीजन की तैयारियां कर ली हैं। ग्राहकों को कई प्रकार के ऑफर देने की तैयारी की है। इसमें लागत रेट पर सामान उपलब्ध कराना, 10 से 50 प्रतिशत तक डिस्काउंट, हाथों हाथ फाइनेंस की सुविधा सहित 100 किमी तक फ्री होम डिलीवरी की सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं। फेस्टिवल सीजन की ग्राहकी शुरू हो गई है। दीपावली तक इलेक्ट्रॉनिक्स मार्केट में 50 करोड़ के टर्न ओवर का अनुमान है।
- प्रदीप दाधीच, इलेक्ट्रानिक्स शोरूम मैनेजर

ज्वैलरी पर ऑनलाइन का कोई फर्क नहीं पड़ता
ऑनलाइन खरीद में ज्वैलरी की ग्राहकी में कोई फर्क नहीं पड़ता। कोटा शहर में अभी तक कोई ऑनलाइन ज्वैलरी खरीद का प्रचलन नहीं है। बड़े शहरों में होता हो तो अलग बात है। पिछले वर्षों के मुकाबले सर्राफा बाजार काफी ग्रोथ करेगा, क्योंकि फेस्टिवल सीजन के साथ शादियों का सीजन भी आ रहा है। शादी समारोह पर लगी पाबंदियां राज्य सरकार हटा ले तो सर्राफा व्यवसाय काफी ग्रोथ कर सकेगा।
- वीरेन्द्र कुमार जैन, सर्राफा व्यवसायी, कोटा

रोजाना 150 से 200 का कारोबार
कोटा शहर में फेस्टिवल सीजन में रोजाना 150 से 200 करोड़ का कारोबार होता है। लॉकडाउन के बाद पहली बार लोग खुलकर ग्राहकी करेंगे। इस सीजन में खुदरा व्यापार में 50 से 60 फीसदी ग्रोथ बढऩे की उम्मीद है। राज्य सरकार बाजारों को खोलने का समय बढ़ाने सहित शादी समारोह पर लगे प्रतिबंध हटा ले तो व्यापार सहित कोटा शहर के विकास को गति मिलेगी।
- क्रांति जैन, अध्यक्ष, कोटा व्यापार महासंघ कोटा

Haboo Lal Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned