छात्रसंघ चुनाव 2019 : कॉलेजों में धूम-धड़ाका शुरू, एबीवीपी ने खोले पत्ते

छात्रसंघ चुनाव : एबीवीपी ने राजकीय कला महाविद्यालय के प्रत्याशियों की घोषणा, प्रत्याशियों का फूलमालाओं व मुंह मीठा करवाकर किया स्वागत

By: Deepak Sharma

Published: 13 Aug 2019, 06:08 PM IST

कोटा. शहर के राजकीय कॉलेजों में student election 2019 छात्रसंघ चुनाव की तिथि घोषित होने के बाद धूमधड़ाका शुरू हो गया। चुनावी हलचल तेज हो गई है। प्रत्याशी अपने मतदाताओं की टोह लेने लगे है। वहीं ABVP अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने मंगलवार को छावनी स्थित परिषद के कार्यालय में राजकीय कला महाविद्यालय से चुनाव लडऩे वाले प्रत्याशियों की घोषणा कर दी है। कॉलेज प्रत्याशियों की घोषणा के बाद एबीवीपी कार्यालय के बाद जश्न का माहौल दिखने को मिला।

read more : गरीब प्रसूताओं का घी खा रहे बिचौलिए, सरकार को लग रहा लाखों का चूना.... जानिए क्या है मामला

विभाग संगठन मंत्री पूरण सिंह ने बताया कि छात्रसंघ चुनाव को देखते हुए एबीवीपी ने चुनाव समिति बनाई थी। समिति ने उसका सर्वे किया है। उसी समिति के सर्वे के मुताबिक हमने एबीवीपी ने राजकीय कला महाविद्यालय से रोहित कुमार को अध्यक्ष पद प्रत्याशी घोषित किया है। महासचिव पद पर प्रत्याशी कुंज बिहारी कुमावत व उपाध्यक्ष पद पर विकास सैनी की घोषणा की है। सभी वरिष्ठ कार्यकर्ता ने प्रत्याशियों का फू लमाला पहनाकर व मुंह मीठा करवाकर स्वागत किया। ढोल नगाड़ो पर छात्र जमकर झूमे। उसके बाद रैली निकालकर कॉलेज पहुंचे। यहां भी पूरे परिसर में घूमकर रैली निकाली।

read more : OMG : कोटा शहर में स्वाइन फ्लू वायरस फिर सक्रिय, एक ही परिवार के चार सदस्य मिले पॉजीटिव, चिकित्सा महकमे में हड़कंप ...

यह रहेगी प्राथमिकताएं
छात्रसंघ अध्यक्ष पद प्रत्याशी घोषित होने के बाद रोहित कुमार से बातचीत में उन्होंने बताया कि वे कॉलेज की तीन प्रमुख ज्वलंत मुद्दों को लेकर छात्रों के बीच जाएंगे। इनमें पहला कॉलेज में मनचलों लोगों के प्रवेश पर रोक रहे। आईडी कॉर्ड व्यवस्था लागू होनी चाहिए। कॉलेज का नया भवन बने और विद्यार्थियों को पढ़ाई का माहौल मिले और स्वच्छता के लिए ठंडे पानी की व्यवस्था के लिए वाटर कूलर लगवाने का प्रयास करेंगे।

Show More
Deepak Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned