कोरोना के खिलाफ परिवहन विभाग की जंग, पैसेंजर वाहनों में किया जा रहा सैनिटाइजर से छिड़काव

Corona effect परिवहन निरीक्षक बस ट्रक और ऑटो चालकों को को सिखा रहे घर पर सैनिटाइजर बनाने का तरीका

 

By: Suraksha Rajora

Published: 22 Mar 2020, 06:00 AM IST

कोटा. कोरोना वायरस से लड़ने के लिए परिवहन विभाग ने अनूठी जंग छिड़ी है। कोरोना से बचाव के लिए परिवहन विभाग सक्रियता दिखा रहा है। पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम को सेनिटाइजेशन करने के उद्देश्य से शहर के कई जगहों पर वाहनों का सेनिटाइजेशन अभियान चलाया गया। आरटीओ, एआरटीओ, डीटीओ और परिवहन निरीक्षक ऑटो, बस एवं ट्रक चालकों एवं परिचालकों को घर पर ही सैनिटाइजर बनाने का तरीका सिखा रहे हैं। इसके साथ ही वह वाहनों को सैनिटाइज करने के करने का प्रशिक्षण भी दे रहे हैं।

कोरोना वायरस को शहर में फैलने से रोकने के लिए जहां एक तरफ बाजार और दफ़्तर बंद कर कम से कम लोगों को घरों से बाहर निकालने की कोशिश की जा रही है वहीं दूसरी तरफ स्कूल और कॉलेज बंद कर लोगों को घरों में ही आइसोलेट किया जा रहा है। हालांकि लोगों की सहूलियत को देखते हुए बस और ऑटो जैसे सार्वजनिक परिवहन के साधन अभी बंद नहीं किए जा सके हैं।


कर रहे सेनेटाइज
कोरोना वायरस का संक्रमण सार्वजनिक परिवहन सेवा के जरिए लोगों में न फैल जाए इसलिए आरटीओ कुसुम राठौर ने सभी परिवहन निरीक्षकों को निजी निजी एवं सरकारी बसों के साथ-साथ ऑटो एवं ट्रकों को सैनिटाइज करने के आदेश जारी किए हैं । इसके बाद परिवहन निरीक्षक सभी प्रमुख बस एवं ऑटो स्टैंड ओं एवं ट्रक स्टैंडों पर जाकर सार्वजनिक परिवहन सेवा प्रणाली से जुड़े वाहनों को सैनिटाइज कर रहे हैं।


दे रहे प्रशिक्षण
इसके साथ ही परिवहन निरीक्षक चालकों एवं परिचालकों को वाहनों को सैनिटाइज करने का तरीका भी सिखा रहे हैं। इसके साथ ही सैनिटाइजर पर चालक एवं परिचालकों के साथ-साथ बस और ट्रक मालिकों को ज्यादा पैसे खर्च न करने पड़े इसलिए उन्हें घर पर ही सोडियम हाइपोक्लोराइट से सैनिटाइजर बनाने का तरीका भी सिखा रहे हैं।


सैनिटाइजेशन के बाद ही सफर आरटीओ कुसुम राठौर ने सभी चालकों एवं परिचालकों को अपने वाहनों और एवं हाथों को सैनिटाइज करने के साथ-साथ सवारियों के हाथों को सैनिटाइजर से या साबुन से अच्छी तरह धुल आने के बाद ही ऑटो या बस में बिठाने लिए पाबंद किया है। परिवहन निरीक्षक ऑटो और बस स्टैंड पर जाकर चालक एवं परिचालकों को पाबंद करने के साथ ही सवारियों को भी सैनिटाइजेशन के महत्व की जानकारी दे रहे हैं एवं खुद भी उनके हाथ सैनिटाइज कराने के बाद ही वाहनों में सवार होने दे रहे हैं।

इनका ये कहना
सिर्फ जनता कर्फ्यू लगाने से कोरोना वायरस से नहीं लड़ा जा सकता। इसकी चैन को खत्म करने के लिए सार्वजनिक परिवहन प्रणाली को भी सुरक्षित बनाना होगा । ऐसे हालात में कुछ ऐसे भी लोग हैं जो मजबूरी में बाहर निकलेंगे ही ऐसे में कोरोना वायरस का संक्रमण इन्हें अपना शिकार न बना ले इसके लिए वाहनों के साथ-साथ चालकों परिचालकों एवं सवारियों को सैनिटाइज करना बेहद जरूरी है ।

इसी के मद्देनजर परिवहन विभाग ने वाहनों को सैनिटाइज करने और मुसाफिरों एवं चालकों परिचालकों को इसका महत्व बताने के लिए जागरूकता अभियान चलाया है । इस अभियान के तहत हम वाहन सैनिटाइज करने हाथ सैनिटाइज करने और सैनिटाइजर बनाने का तरीका सिखा रहे हैं। सभी वाहन चालकों एवं मालिकों को वाहनों को नियमित सैनिटाइज करने एवं मुसाफिरों को सैनिटाइजर से हाथ धुल आने के बाद ही वाहन में प्रवेश देने के लिए पाबंद किया है।
कुसुम राठौड़, आरटीओ कोटा

Corona virus
Show More
Suraksha Rajora
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned