अद्र्धवार्षिक परीक्षाओं पर भी कोरोना का साया

नवम्बर महिना पूरी तरह से निकलने को है, लेकिन सरकार की ओर से अद्र्धवार्षिक परीक्षाओं को लेकर कोई दिशा-निर्देश नहीं है। इस कारण इस बार भी अद्र्धवार्षिक परीक्षाएं होना मुश्किल लग रही है। इन परीक्षाओं पर भी कोरोना का साया नजर आ रहा है।

 

By: Abhishek Gupta

Published: 27 Nov 2020, 01:28 PM IST

कोटा. नवम्बर महिना पूरी तरह से निकलने को है, लेकिन सरकार की ओर से अद्र्धवार्षिक परीक्षाओं को लेकर कोई दिशा-निर्देश नहीं है। इस कारण इस बार भी अद्र्धवार्षिक परीक्षाएं होना मुश्किल लग रही है। इन परीक्षाओं पर भी कोरोना का साया नजर आ रहा है। जबकि हर साल नवम्बर माह में स्कू  लों में विद्यार्थियों की अद्र्धवार्षिक परीक्षा हो जाती है। दिसम्बर में शीतकालीन अवकाश घोषित हो जाता है। दरअसल, इस बार कोरोना माहामारी की वजह से स्कू  ल खुले नहीं है। सरकार घर बैठे स्माइल प्रोजेक्ट के माध्यम से विद्यार्थियों को ऑनलाइन पढ़ाई करवा रही है, लेकिन गांवों में कई गरीब तबके विद्यार्थी है। उनके पास एंड्रायड मोबाइल, लैपटॉप, टीवी जैसे ऑनलाइन पढ़ाई के लिए संसाधन नहीं है। इस कारण विद्यार्थियों की पढ़ाई नहीं हो पाई। उनका सिलेबस पूरी तरह से पूरा नहीं हुआ है।

सिलेबस भी तय नहीं...

राज्य सरकार ने आरबीएसई स्कू  लों में 10वीं व 12वीं बोर्ड परीक्षाओं को लेकर 40 प्रतिशत कम सिलेबस तय कर दिया, लेकिन 5वीं व 8वीं बोर्ड कक्षाओं के लिए अभी तक कोई सिलेबस तय नहीं किया है। सरकारी की ओर से भी इस संबंध में कोई गाइड लाइन जारी नहीं की गई।

होम वर्क अब घर-घर...

जिन विद्यार्थियों के पास ऑनलाइन के कोई संसाधन नहीं है। वे पढ़ाई से नहीं जुड़ पा रहे है। कोरोना काल में सरकार ने हाल ही में उनको पढ़ाने के लिए शिक्षकों की घर-घर होम वर्क ड्यूटी लगाई है। शिक्षक एक दिन बच्चे के घर जाएंगे, उसे होम वर्क देंगे और दूसरे दिन उसका होम वर्क चेक करेंगे। ऐसे हालातों में यह लग नहीं रहा है कि सरकार अद्र्धवार्षिक परीक्षा करवा पाएंगी।

सीबीएसई- स्कू  ल स्तर पर होगी परीक्षा

सीबीएसई स्कू  लों में बेहतर तरीके से ऑनलाइन पढ़ाई करवा जा रही थी, लेकिन दिवाली के बाद फीस व अन्य मुद्दों को लेकर यहां भी स्कू  ल बंद हो गए। ऐसे में यहां भी परीक्षा अटक गई। सीबीएसई अधिकारियों का कहना है कि अब स्कू  ल अपने स्तर पर ऑनलाइन विद्यार्थियों की परीक्षा करवा सकते है।

फैक्ट फाइल

कोटा जिला - 63 सीबीएसई स्कू  ल

- करीब डेढ़ लाख विद्यार्थी अध्ययनरत

- आरबीएस स्कू  ल- माध्यमिक

- 314 स्कू  ल- 99 हजार विद्यार्थी अध्यनरत

- प्राथमिक - 734 स्कू  ल- 51126 विद्यार्थी अध्यनरत

इनका यह कहना- 5वीं व 8वीं बोर्ड कक्षाओं का सिलेबस तय नहीं हुआ है, लेकिन विद्यार्थियों को ऑनलाइन पढ़ाई करवाई जा रही है। अद्र्धवार्षिक परीक्षाओं को लेकर भी कोई निर्देश नहीं मिले है। - द्रोपती मेहर, डीईओ, प्रा., कोटा

अद्र्धवार्षिक परीक्षाओं को लेकर कोई निर्देश नहीं मिले है। जैसे विभागीय निर्देश मिलेंगे। परीक्षा करवाई जाएगी।- गंगाधर मीणा, डीईओ, मा., कोटा

Abhishek Gupta
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned