नगर निगम के खिलाफ अनशन करना भाजपा कार्यकर्ता को भारी पड़ा

कोटा उत्तर निगम के खिलाफ अनशन करना भाजपा कार्यकर्ता को भारी पड़ गया। जिस प्रकरण को लेकर अनशन हुआ उस पर कोई एक्शन नहीं लिया। बल्कि अनशन करने वाले भाजपा कार्यकर्ता का ही मकान सीज कर दिया गया।

By: Jaggo Singh Dhaker

Published: 23 Jul 2021, 01:59 PM IST

कोटा. कैथूनीपोल थाना क्षेत्र में भाजपा कार्यकर्ता के मकान को सीज करने के मामले को लेकर भाजपा पार्षद और कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। यह मकान दक्षिण नगर निगम के अधिकारियों ने सीज किया, लेकिन यहां नारेबाजी उत्तर निगम के अधिकारियों के खिलाफ हुई। भाजपा कार्यकर्ताओं ने निशाने पर कोटा उत्तर निगम के कार्यवाहक उपायुक्त प्रेमशंकर शर्मा रहे। उनके कार्यकर्ताओं ने खिलाफ नारेबाजी हुई। भाजपा कार्यकर्ता हरीश राठौर ने बताया कि उन्होंने निगम की अनियमितता का मुद्दा उठाया था, इसे खफा होकर कोटा उत्तर के अधिकारियों ने पहले खुद ही कुछ लोगों से शिकायत करवाई और फिर कोटा दक्षिण के उपायुक्त से नोटिस दिलवाया और उसके बाद छुट्टी के दिन बुधवार को सीज करने की फाइल तैयार की गई।इसके बाद आयुक्त ने गुरुवार को सीज करने के आदेश जारी किए। दिन में भाजपा कार्यकर्ताओं के एकत्र होने के कारण निगम का दस्ता सीज करने की कार्यवाही नहीं कर पाया। दिन में यहां भारी पुलिस बल तैनात किया गया। पुलिस ने पूरे घटनाक्रम की वीडियोग्राफी भी कराई। फिर शाम को निगम के दस्ते ने जाकर मकान के प्रथम तल को सीज कर दिया। भाजपा पार्षद विवेक मित्तल और रामबाबू सोनी ने कहा, परकोटे में दशकों पुराने मकान बने हुए हैं, किसी अधिकारी के खिलाफ भ्रष्टाचार की शिकायत करने पर इस तरह की कार्यवाही करना उचित नहीं है। दिन में विधायक संदीप शर्मा भी समझाइश के लिए पहुंचे और दो घंटे तक रुकने के बाद वापस आ गए। उनके जाने के बाद शाम को मकान सीज कर दिया गया। शहर जिला उपाध्यक्ष नेता खंडेलवाल, छगन माहूर और कार्यकारिणी सदस्य शिवनारायण शर्मा ने भाजपा कार्यकर्ता हरीश राठौर के मकान को सीज करने की कार्यवाही की निंदा की। नेता खंडेलवाल ने कहा कि हरीश राठौर ने अवैध निर्माण की शिकायत की थी इस पर निगम ने उल्टा बदले की भावना से यह कार्यवाही की है।


नोटिस मुझे दिया गया और निगम के अधिकारी मेरे भाई का मकान सीज कर गए। कोटा उत्तर निगम में भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाने पर बदलने की भावना से कार्रवाई की गई है।
-हरीश राठौर,भाजपा कार्यकर्ता

परकोटे में 100 मीटर की दूरी तक निर्माण नहीं हो सकता। यह अवैध रूप से नया निर्माण किया गया। इसलिए मकान सीज किया गया है, उनके खिलाफ शिकायत मिली थी, उसके बाद नोटिस जारी किया गया, फिर सीज करने की कार्यवाही की गई।
-अशोक त्यागी, उपायुक्त, कोटा दक्षिण निगम

Show More
Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned