मानसून सबको मुबारक, लेकिन यहां तो टैंकरों का ही आसरा

मानसून सबको मुबारक, लेकिन यहां तो टैंकरों का ही आसरा

Dheetendra Kumar Sharma | Updated: 14 Jul 2019, 07:00:00 AM (IST) Kota, Kota, Rajasthan, India

कोटा जिला मुख्यालय से महज 30 किमी दूर स्थित मंडाना क्षेत्र के निवासियों को समस्या से निजात नहीं मिल पा रही है। अभी भी कई क्षेत्रों में ग्रामीण टैंकरों से जलापूर्ति पर आश्रित हैं।

कोटा/मण्डाना.

हाड़ौती में मानसून का आगाज हो चुका है, इससे पहले प्री मानसून ने भी जिले भर और आस पास के क्षेत्र को काफी भिगोया लेकिन कोटा जिला मुख्यालय से महज 30 किमी दूर स्थित मंडाना क्षेत्र के निवासियों की नियति में इस सब का लाभ शायद नहीं। पीने के पानी तक को बरसों से जूझ रहे इस क्षेत्र के बाशिंदों को समस्या से निजात नहीं मिल पा रही है। अभी भी कई क्षेत्रों में ग्रामीण टैंकरों से जलापूर्ति पर ही आश्रित हैं।

मण्डाना कस्बे को पेयजल समस्या से निजात दिलाने के लिए करोड़ों रुपए की लागत से पदमपुरा पेयजल योजना से जलापूर्ति होनी थी। गत वर्ष अप्रेल माह में आनन फानन में विभाग व जनप्रतिनिधियों ने वाहवाही लूटने के लिए मण्डाना में स्थित पम्पहाउस का लोकार्पण भी कर दिया। समारोह के दौरान अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों ने लोगों को आश्वस्त किया कि अब किसी को पीने के पानी के लिए इधर-उधर नहीं भटकना पड़ेगा लेकिन आश्वासन कोरे साबित हुए। एक वर्ष गुजरने के बाद भी कस्बे की अधिकांश जनता टैंकरों से होने वाली जलापूर्ति पर आश्रित है। इसके चलते लोगों को पीने के पानी के लिए इधर-उधर भटकने की मजबूरी अब भी बनी हुई है। लेकिन, इस ओर जलदाय विभाग का कोई ध्यान नहीं है। क्षेत्रवासी टैंकर आने का बेताबी से इंतजार करते रहते हैं। टैंकर आते ही पानी के लिए टूट पड़ते हैं। देखते ही देखते चंद मिनट में पांच हजार लीटर पानी रीत जाता है।

नहीं हुए कनेक्शन -

मण्डाना कस्बे में जलदाय विभाग की ओर से घरों में जलापूर्ति की जाती है लेकिन योजना के तहत अभी भी कई वार्डों में पाइप लाइन ही नहीं बिछाई गई है। जहां बिछ गई है वहां पर भी कनेक्शन जारी नहीं किए गए हैं। ऐसे में लोगों को पेयजल समस्या का सामना करना पड़ रहा है। लोगों ने कनेक्शन करवाने के लिए डिमाण्ड राशी भी जमा की हुई है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned