आधी रात से किया स्प्रे, दोबारा कोटा जिले में पहुंचा टिड्डी दल

चम्बल नदी पार कर कोटा जिले की सीमा में प्रवेश

 

By: KR Mundiyar

Published: 14 Jun 2020, 07:48 PM IST

कापरेन. हाड़ौती में टिड्डी दलों (Locust Attack in rajasthan) का संकट बरकरार है। कापरेन के अड़ीला गांव में शनिवार रात को पहुंचे टिड्डी दल को भगाने के लिए रात एक बजे दवा स्प्रे किया गया। जिला विस्तार अधिकारी राधा किशन वर्मा के नेतृत्व में 18 सदस्यों की टीम ने दवा स्प्रे शुरू किया जो सुबह सवा सात बजे तक चला। इसके बाद टिड्डी दल हांड्या खेड़ा, रोटेदा से होते हुए चम्बल नदी पार कर कोटा जिले की सीमा में प्रवेश करते हुए सुल्तानपुर की ओर निकल गया।

कोटा संभाग में तेज हवा के साथ कई जगह बरसे मेघ

तीन दिन पहले किया था हमला
कोटा शहर, दीगोद व सुल्तानपुर क्षेत्र के 50 से अधिक गांवों में बुधवार को दो अलग-अलग टिड्डी दलों ने हमला किया था। कोटा में स्टेशन क्षेत्र में गुरुवार सुबह भी पेड़ों पर टिड्डियां देखी गई। रात में मानसगांव के जंगलों में डेरा डाला था, टिड्डयां यहां विलायती बबूल व अन्य पेड़ों की हरियाली को चट कर गई। चन्द्रेसल मठ के पास भी झुण्ड रातभर डटा हुआ था।

Show More
KR Mundiyar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned