जानिए क्यों 15 करोड़ लेकर घूम रहा कोटा नगर निगम

नगर निगम प्रशासन छह माह से गोशाला के लिए बजट लेकर घूम रहा, लेकिन जमीन नहीं मिल रही है।

By: ​Zuber Khan

Published: 13 Mar 2018, 09:04 PM IST

कोटा . नगर निगम प्रशासन छह माह से गोशाला के लिए बजट लेकर घूम रहा, लेकिन जमीन नहीं मिल रही है। अब मंगलवार को महापौर ने निगम अफसरों के साथ झालावाड़ रोड पर जगपुरा के पास गोशाला के लिए जमीन देखी।

Read More: समर्थन मूल्य पर उड़द बेच फंस गए हाड़ौती के 13 हजार किसान, अटक गए अन्नदाता के 122 करोड़

महापौर महेश विजय ने गोशाला समिति अध्यक्ष पवन अग्रवाल, पार्षद बृजमोहन गौड़ और अधीक्षण अभियंता प्रेमशंकर शर्मा के साथ जगपुरा पुलिस चौकी के पीछे का स्थान देखा। अब यह 25 बीघा जमीन गोशाला के लिए उपयुक्त मानी गई है। महापौर ने एसई को आगे की कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

Read More: गरीबों का हक मत मारो, अस्पताल में दवाओं का इंतजाम करो, कांग्रेस ने दिया 7 दिन का अल्टीमेटम

चार साल से हो रही तलाश

निगम प्रशासन 4 साल से गोशाला के लिए जमीन तलाश रहा, लेकिन अभी तक उपयुक्त जमीन नहीं मिली। पिछले दिनों जिला कलक्टर के दखल के बाद नगर विकास न्यास ने रावतभाटा रोड पर गोशाला के लिए निगम को जमीन आवंटन पर सहमति दे दी थी, लेकिन निगम अधिकारियों ने मौके पर अस्सी फीसदी जमीन पर अतिक्रमण देख, इसे लेने से इनकार कर दिया था। इसके बाद उम्मेदगंज के पास जमीन देखी गई। यहां करीब 15 बीघा जमीन निगम की है, शेष यूआईटी के कब्जे में। यूआईटी ने यह जमीन देने से मना कर दिया। न्यास की यहां आवासीय योजना प्रस्तावित है।

Read More: रक्त की जरूरत है तो कोटा के इन ब्लड बैंकों के भरोसे मत रहना, यहां आपको देने के लिए नहीं है खून

महापौर महेश विजय ने बताया कि जगपुरा पुलिस चौकी के पीछे 25 बीघा से अधिक भूमि उपयुक्त है। अधीक्षण अभियंता को तहसील कार्यालय से जानकारी हासिल करने के निर्देश दिए हैं। इसके बाद जिला कलक्टर के माध्यम से नगर विकास न्यास से नगर निगम, कोटा को यह जमीन आवंटित कराने का प्रयास किया जाएगा। भूमि मिलने के बाद गोशाला का निर्माण कार्य करवाया जाएगा।

 

Show More
​Zuber Khan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned