बाढ़ के हालातों से पसीजा दिल, आज काम पर लौटेंगे ठेका श्रमिक

बाढ़ के हालातों से पसीजा दिल, आज काम पर लौटेंगे ठेका श्रमिक
बाढ़ के हालातों से पसीजा दिल, आज काम पर लौटेंगे ठेका श्रमिक

Shailendra Tiwari | Updated: 16 Sep 2019, 02:01:35 AM (IST) Kota, Kota, Rajasthan, India

एमबीएस अस्पताल का मामला : सात दिनों की हड़ताल के बाद शुरू करेंगे काम

कोटा. बाढ़ के हालातों को देखते हुए सात दिन से हड़ताल कर रहे एमबीएस अस्पताल के ठेका श्रमिकों का दिल पसीजा और उन्होंने काम पर लौटने का फैसला किया है। सोमवार से वे काम पर लौट आएंगे। ठेका श्रमिक संघर्ष समिति के महामंत्री दिलीप सेंगर ने बताया कि बाढ़ पीडि़तों के प्रति मानवता दिखाते हुए यह फैसला किया गया है। मेडिकल कॉलेज प्राचार्य के दखल के बाद ठेका श्रमिकों व संवेदक के बीच वार्ता हुई। इसमें तय हुआ कि श्रमिकों की मांग 30 सितम्बर तक पूरी कर दी जाएंगी। सेंगर ने बताया कि यदि मांगे पूरी नहीं हुई तो फिर से हड़ताल की जाएगी।

कोटा में आई बाढ़ के बाद जिले के सभी विद्यालयों में अवकाश घोषित,जिला कलेक्टर ने दिए निर्देश


इन मांगों पर निर्णय

संवेदक की तरफ से अस्पताल में सेन्ट्रल लैब के पास ईएसआई कार्ड शिविर लगाया जाएगा। शिविर में सभी ठेका श्रमिकों के कार्ड बनाए जाएंगे।

70-100 ठेका श्रमिक की भुगतान की आ रही राशि के अंतर को पूरा किया जाएगा। इसके अलावा शेष भुगतान को भी वापस किया जाएगा।
दिसम्बर 2016 से ठेका श्रमिकों की बकाया पीएफ की सम्पूर्ण राशि भी संवेदक की ओर से जमा कराई जाएगी।


अस्पताल की व्यवस्थाएं चरमराई

उधर, एमबीएस अस्पताल के ठेका श्रमिकों ने 7वें दिन भी कामकाज बंद रखा। इससे अस्पताल की व्यवस्थाएं चरमरा गई। जगह-जगह मरीजों की कतार थीं। दवा काउंटर पर हालात ज्यादा खराब थे। ठेका श्रमिकों की हड़ताल के चलते परिजन ही ट्रॉली पर मरीजों को लिटाकर चिकित्सकों को दिखाते नजर आए।

जांचों का काम प्रभावित
अस्पताल में पर्ची काउंटर, रसीद काउंटर, दवा काउंटर, ओपीडी, भामाशाह काउंटर, एक्सरे व लैब सहित वार्डों में मरीजों को परेशानी उठानी पड़ी। यहीं पर सबसे ज्यादा ठेका श्रमिक कार्यरत हैं। अस्पताली में करीब 484 ठेका श्रमिक हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned