कोटा में पहले दिन बीआर्क की परीक्षा में 180 अनुपस्थित रहे

इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन्स सितंबर 2020 की शुरुआत मंगलवार से हो गई। कोविड-19 की गाइडलाइन के तहत पहले दिन दो सत्रों में बीआर्क और बी-प्लानिंग की परीक्षा हुई।

By: Jaggo Singh Dhaker

Published: 01 Sep 2020, 08:06 PM IST

कोटा. नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) की ओर से आयोजित की जाने वाली देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन्स सितंबर 2020 की शुरुआत मंगलवार से हो गई। कोविड-19 की गाइडलाइन के तहत पहले दिन दो सत्रों में बीआर्क, बी-प्लानिंग की परीक्षा हुई। इस परीक्षा के लिए 1 लाख 12 हजार 158 विद्यार्थियों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था। कोटा में परीक्षा केन्द्र रानपुर स्थित शिव ज्योति स्कूल में यह परीक्षा हुई। जिसमें 421 में से 180 स्टूडेंट्स अनुपस्थित रहे। सुबह की शिफ्ट में 242 में से 145 तथा शाम की शिफ्ट में 179 में से 96 विद्यार्थी उपस्थित रहे। कॅरियर काउंसलिंग एक्सपर्ट अमित आहूजा ने बताया कि जेईई मेन्स सितंबर 2020 के तहत अब बुधवार से बीई, बीटेक के लिए परीक्षाएं होंगी जो कि 6 सितंबर तक सुबह 9 से 12 एवं दोपहर 3 से 6 बजे के मध्यदेश के 224 शहरों में 660 परीक्षा केन्द्रों एवं विदेशों के आठ शहरों में भी आयोजित होगी। इस परीक्षा में 8 लाख 41 हजार 188 विद्यार्थी शामिल होंगे। राजस्थान में 9 शहरों कोटा, अजमेर, अलवर, बीकानेर, जयपुर, जोधपुर, सीकर, श्रीगंगानगर एवं उदयपुर में 19 परीक्षा केन्द्रों पर 45 हजार 227 विद्यार्थी परीक्षा में शामिल होंगे। कोटा में यह परीक्षा एनटीए की ओर से निर्धारित दो परीक्षा केन्द्र रानपुर स्थित शिव ज्योति स्कूल एवं अनंतपुरा स्थित ओम कोठारी कॉलेज में होगी।

ये रहेगा बीई-बीटैक परीक्षा का पैटर्न
परीक्षा में कुल 75 प्रश्न पूछे जाएंगे। जिसमें फिजिक्स, कैमिस्ट्री एवं मैथेमेटिक्स से 25-25 प्रश्न पूछे जाएंगे। प्रत्येक विषय के 25 प्रश्नों में 20 प्रश्न बहुविकल्पी एवं 5 प्रश्न न्यूमेरिकल वैल्यू बेस्ड पूछे जाएंगे। प्रत्येक प्रश्न के सही उत्तर के लिए 4 अंक एवं गलत उत्तर के लिए एक अंक काटा जाएगा लेकिन, न्यूमेरिकल वैल्यू बेस्ड तीनों विषयों के कुल 15 प्रश्नों में ऋ णात्मक मूल्यांकन नहीं होगा। इस प्रकार कुल 75 प्रश्न 300 अंकों के पूछे जाएंगे।
इस बार विद्यार्थियों को प्रवेश द्वार पर थर्मल स्केनिंग कर प्रवेश पत्र में दिए गए बार कोड रीडर के माध्यम से लैब आवंटित की गई। साथ ही विद्यार्थियों को थ्री-लेयर मास्क भी दिया गया। जिसे विद्यार्थी को परीक्षा देते समय उपयोग करना अनिवार्य था। विद्यार्थी को परीक्षा समाप्त होने पर प्रवेश पत्र एवं स्व घोषणा प्रपत्र को भी दिए गए नियत स्थान पर छोडऩा था। विद्यार्थी को स्वयं के साथ आधार कार्ड या कोई आइडी प्रवेश पत्र, पारदर्शी पेन, स्वयं का फोटो, सेनेटाइजर व पानी की बोतल साथ में लानी थी। साथ ही मोटे सोल के जूते व बड़े बटन वाले वस्त्रों की भी अनुमति नहीं दी गई।

Show More
Jaggo Singh Dhaker
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned