अगर घर में लगाएंगे ये Safety Gadgets, घर में घुसते ही जल उठेगी लाईटें, बजेगा तेज अलार्म पकड़ा जाएगा चोर

सिक्योरिटी गेजेट्स लगाकर हम भी टाल सकते हैं चोरी की वारदात।

By: ​Zuber Khan

Updated: 10 Feb 2018, 08:46 AM IST

जुबैर खान @ कोटा .

शहर में चोरी का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा। इस साल के शुरुआत से लेकर अभी तक चोरी की कई वारदत हो चुकी हैं। लेकिन, हमारी सतर्कता गिरोहों को पनपने से पहले ही जेल की सलाखों के पीछे पहुंचा सकती है। टेक्नोलॉजी के युग में कई ऐसे उपकरण हैं, जिनके उपयोग से बड़ी हानि से बचा जा सकता है।

वीडियो डोरफोन
इसे घर के मुख्य दरवाजे पर घंटी (बेल) के साथ कनेक्ट किया जाता है। कोई शख्स जब घंटी बजाता है तो घर में लगी डिस्प्ले पर उसकी तस्वीर आ जाती है। इसके अलावा हम 'टॉक' बटन दबाकर टू-वे यानी फ ोन की तरह बात कर सकते हैं। इससे घर के दरवाजे पर खड़े शख्स की गतिविधि भांप कर कार्रवाई सकते हैं।

 

Read More : राजस्थान की नं. 1 पुलिस के बगल में बना वारदातों का अड्डा, आधा दर्जन दुकानों व एक बैंक पर चोरों का धावा

अलार्म पेड लॉक
इसे घर, दुकान, शोरूम के दरवाजे पर लगाया जाता है। दरवाजे पर जैसे ही किसी तरह की छेडख़ानी की जाती है तो अलार्म बज उठता है। लोग सतर्क हो जाते हैं।

मोबाइल फोन लाइव मॉनिटरिंग सिस्टम
इस सिस्टम के जरिए हम दुनिया के किसी भी कोने में बैठकर अपने घर या दुकान की निगरानी कर सकते हैं। इसके लिए घर में लगे सीसीटीवी कैमरों को डिजिटल वीडियो रिकॉर्डर (डीवीआर) से जोडऩा होता है। इसके बाद मोबाइल फोन पर इंटरनेट के माध्यम से घर की निगरानी कहीं भी की जा सकती है। डीवीआर पर बनाई गई आईडी-पासवर्ड को मोबाइल, लेपटॉप या टेबलेट में डालने पर लाइव मॉनिटरिंग सिस्टम ऑन हो जाता है।

 

Read More : बरसों से राजस्थान की नं. 1 पुलिस हथकड़ी लेकर घूम रहीं फिर भी शिंकजे से दूर 4 हजार से ज्यादा शातिर अपराधी

जीएसएम सिम अलार्म सिस्टम
गेट पर लगने वाले इस उपकरण में मोबाइल सिम लगती है। इसमें अपने मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड कर सेटिंग की जाती है। दरवाजे से छेड़छाड़ पर यह रजिस्टर्ड मोबाइल पर वाइस कॉल व मैसेज भेज देता है। चोरों की बातचीत तक फोन पर सुनी जा सकती है।

मोशन सेंसर बेस्ड लाइटिंग
इस सेंसर को घर की किसी लाइट के पास फिट किया जाता है। सामने कोई भी मूवमेंट होते ही लाइट ऑन होकर अलार्म बजने लगता है।

 

Read More : आबकारी विभाग ने की गोपनीय बैठक, शराब के ठेकेदारों पर जमकर मेहरबान हुए अधिकारी

बायोमैट्रिक अलार्म लॉक
इस सिस्टम में घर के मुख्य दरवाजे के लॉक पर थम्स इंप्रेशन सेट करने होते हैं। इसके बाद रजिस्टर्ड सदस्यों के अलावा कोई बाहरी व्यक्ति लॉक नहीं खोल सकता। लॉक तोडऩे की कोशिश पर अलार्म एक्टिव हो जाता है।

दुकान में चोरी होने से बची
व्यवसायी श्याम गौड़ का कहना है कि गत वर्ष मैं रात दस बजे कोटड़ी स्थित दुकान बंद कर घर गया। देर रात दुकान के शटर पर लगे जीएसएम सिम अलार्म के नंबर से मोबाइल पर कॉल आया। फोन उठाया तो शटर तोडऩे की आवाज सुनाई दी। तुरंत दुकान पहुंचा तो चार-पांच जने ताला तोडऩे का प्रयास कर रहे थे, जो मुझे आता देख भाग गए।

Show More
​Zuber Khan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned