अफसरों की लापरवाही से प्रतिदिन बर्बाद हो रही 250 यूनिट बिजली

अफसरों की लापरवाही से प्रतिदिन बर्बाद हो रही 250 यूनिट बिजली

Mahendra Pratap Singh | Publish: Aug, 22 2018 03:40:52 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

जनपद में जहां एक ओर सोलर एनर्जी को बढ़ावा देने के लिए सरकारी गंभीर है। वहीं अफसर योजना को पलीता लगाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं।

लखीमपुर खीरी. जनपद में जहां एक ओर सोलर एनर्जी को बढ़ावा देने के लिए सरकारी गंभीर है। वहीं अफसर योजना को पलीता लगाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। फिलहाल इसकी शुरुआत विकास भवन और कलेक्ट्रेट में 35 लाख रुपए से 5 महीने पहले रूफटॉप सोलर पावर प्लांट लगाया गया है। लेकिन अब तक यह शोपीस बना हुआ है। अभी तक इससे उत्पन्न होने वाली बिजली का उपयोग नहीं हो पा रहा है। जिसको लेकर प्रतिदिन 250 यूनिट बिजली बर्बाद हो रही है। वहीं जिम्मेदार अधिकारी नेट मीटर लगा पाने की वजह से ग्रिड को आपूर्ति न होने की बात कह कर पल्ला झाड़ रहे हैं।

मार्च 2018 में पॉवर प्लांट स्थापित किया जा चुका

बताते चलें कि यूपी नेडा द्वारा सरकारी कार्यालयों की छत पर रूफटॉप सोलर पावर प्लांट स्थापित कराने की शुरुआत विकास भवन और कलेक्ट्रेट से की थी। दोनों स्थानों पर मार्च 2018 में पॉवर प्लांट स्थापित किया जा चुका है। दोनों प्लांट की क्षमता 26-26 केवी है। इन पर 17.5-17.5 लाख की लागत आई है। प्रत्येक प्लांट से प्रतिदिन करीब 125 यूनिट बिजली उत्पन्न का अनुमान है। इसका सही आकलन ग्रिड की सप्लाई शुरू होने में किया जा सकेगा।

तत्कालीन सीडीओ अमित बंसल ने ग्रिड की सप्लाई चालू कराने के लिए बिजली विभाग को पत्र भी भेजा था। इसके अलावा नेडा के परियोजना अधिकारी अतुल जैन ने 20 मार्च 2018 को बिजली विभाग को पत्र भेजकर नेट मीटर लगाकर ग्रिड की सप्लाई चालू करने की मांग की थी। लेकिन बिजली विभाग के अधिकारियों ने अब तक इसका संज्ञान नहीं लिया।

यह है योजना

अपने घर या ऑफिस की छत पर रूफटॉप सोलर पावर प्लांट से बनने वाली बिजली की सप्लाई सीधे पावर कारपोरेशन के ग्रिड में की जाएगी। इसके एवज में बिजली विभाग संबंधित संस्था/ व्यक्ति को भुगतान करेगा। इसके लिए बिजली विभाग प्लांट में नेट मीटर लगाएगा। तभी आपूर्ति ग्रिड को शुरू किया जा सकेगा।विकास भवन और कलेक्ट्रेट में स्थापित पावर प्लांट में अभी नेट मीटर नहीं लगा है।

वहीं अधिशासी अभियंता पी के वर्मा ने बताया कि नेट मीटर लगाने के लिए आर्डर दिया जा चुका है। अभी सप्लाई नहीं मिल पाई है। उम्मीद है। कि 10 से 15 दिनों में मीटर लगा कर पावर सप्लाई प्रारंभ कर दी जाएगी।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned