Mubadala के बाद Jio Platforms में ADIA करेगी 5683 करोड़ रुपए का Investment

  • 47 दिन में 8 निवेशों के जरिए Jio Platforms ने एकत्र किए करीब 98 हजार करोड़ रुपए
  • Jio Platforms से 21.06 फीसदी की Equity बेच चुके हैं Mukesh Ambani

By: Saurabh Sharma

Published: 08 Jun 2020, 11:55 AM IST

नई दिल्ली। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ( Reliance Industries Limited ) ने आबूधाबी इंवेस्टमेंट अथारिटी ( Abu Dhabi Investment Authority ) की पूर्ण स्वामित्व वाली एक सहयोगी इकाई की तरफ से जियो प्लेटफॉर्म्स ( Jio Platforms ) में 5,683.50 करोड़ रुपए के निवेश की घोषणा की है। कोरोना वायरस के बीच मुकेश अंबानी की कंपनी जियो प्लेटफॉर्म्स ( Jio Platform Investment ) में पिछले 47 दिनों में 8 निवेशों के जरिए जियो प्लेटफॉर्म्स ( Jio ADIA Deal ) में 21.06 फीसदी इक्विटी के लिए कुल 97,885.65 करोड़ रुपए का निवेश हो चुका है। यह निवेश 22 अप्रैल को फेसबुक ( Facebook ) से शुरू हुआ था, उसके बाद सिल्वर लेक ( Silver Lake ), विस्टा इक्विटी ( Vista Equity ), जनरल अटलांटिक ( General Atlantic ), केकेआर ( KKR ), और मुबाडला ( Mubadala ) ने अतिरिक्त निवेश किया था।

लगातार दूसरे दिन आम आदमी की जेब को झटका, जानिए Petrol And Diesel पर कितने बढ़ गए दाम

मुकेश अंबानी का बयान
रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा, मुझे खुशी है कि एडीआईए, निवेश के चार दशक की सफलता के ट्रैक रिकॉर्ड के साथ, जियो प्लेटफार्मों के साथ पार्टनरशिप कर रहा है। वह जियो के मिशन में भागीदार है। जो भारत के लिए डिजिटल लीडरशिप और समावेशी विकास के अवसर पैदा करता है।

Canara Bank के बाद अब IOB ने दी ग्राहकों को राहत, सस्ता किया लोन पर ब्याज

एडीआईए ने क्या कहा
एडीआईए में प्राइवेट इक्विटी विभाग के कार्यकारी निदेशक हमाद शाहवान अल्दहेरी ने कहा, जियो प्लेटफार्म भारत की डिजिटल क्रांति में सबसे आगे है। जियो में हमारा निवेश एडीआईए के बाजार की अग्रणी कंपनियों में निवेश करने की हमारी गहरी समझ और विशेषज्ञता को प्रदर्शित करता है। आपको बता दें 1976 में स्थापित, एडीआईए विश्व स्तर पर आबूधाबी सरकार की ओर से निवेश करती है। एडीआईए एक वैश्विक निवेश पोर्टफोलियो का प्रबंधन करता है जो दो दर्जन से अधिक परिसंपत्ति वर्गों और उप-वर्गों में है।

Unlock 1.0 के पहले फेज में Share Market ने मारी दहाड़, Sensex पहुंचा 35 हजार अंकों के करीब

क्या है जियो प्लेटफॉर्म
जियो प्लेटफॉर्म्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की 'फुली ओन्ड सब्सिडियरी' है। यह एक 'नेक्स्ट जनरेशन' टेक्नॉलोजी कंपनी है जो भारत को एक डिजिटल सोसायटी बनाने के काम में मदद कर रही है। इसके लिए जियो के प्रमुख डिजिटल एप, डिजिटल ईकोसिस्टम और भारत के नंबर 1 हाई-स्पीड कनेक्टिविटी प्लेटफॉर्म को एक-साथ लाने का काम कर रही है। रिलायंस जियो इंफोकॉम लिमिटेड, जिसके 38 करोड़ 80 लाख ग्राहक हैं, वह जियो प्लेटफॉर्म्स लिमिटेड की 'होल्ली ओन्ड सब्सिडियरी' बनी रहेगी।

Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned