व्यक्तिगत दुर्व्यवहार के आरोपों के बीच इस्तीफा देने के बाद पहली बार बोले बिन्नी बंसल

व्यक्तिगत दुर्व्यवहार के आरोपों के बीच इस्तीफा देने के बाद पहली बार बोले बिन्नी बंसल

Ashutosh Kumar Verma | Publish: Feb, 05 2019 02:48:06 PM (IST) कॉर्पोरेट

हाल ही में एक इंटरव्यू में 37 वर्षीय बंसल ने कहा, "मैं अपने जीवन के अगले चैप्टर की तरफ आगे बढ़ रहा हूं। व्यक्तिगत तौर पर करीब 10 स्टार्टअप की मदद कर सकता हूं, लेकिन मैं करीब 10 हजार उद्यमियों की मदद करना चाहता हूं।"

नर्इ दिल्ली। करीब तीन माह पहले ही बिन्नी बंसल को उस कंपनी से निकलना पड़ा था जिसे सचिन बंसल के साथ मिलकर उन्होंने स्थापना की थी। एक दशक पहले सचिन बंसल व बिन्नी बंसल ने बेंगलुरु के एक अपार्टमेंट से फ्लिपकार्ट की शुरुआत की थी। हाल ही में वालमार्ट द्वारा फ्लिपकार्ट के अधिग्रहण के बाद बिन्नी बंसल ने कंपनी छोड़ दी थी। बंसल पर व्यक्तिगत दुर्व्यवहार का आरोप भी लगा था। कंपनी छोड़ने के बाद बंसल ने अपने पुराने काॅलेजमेट सार्इंकिरन कृष्णमूर्ति के साथ मिलकर xto10x नाम के एक स्टार्टअप की शुरुआत की है। उनका यह नया स्टार्टअप नए उद्यमियों के लिए बेहतर इकोसिस्टम पर केंद्रित है।


व्यक्तिगत दुर्व्यवहार का लगा था आरोप

हाल ही में एक इंटरव्यू में 37 वर्षीय बंसल ने कहा, "मैं अपने जीवन के अगले चैप्टर की तरफ आगे बढ़ रहा हूं। व्यक्तिगत तौर पर करीब 10 स्टार्टअप की मदद कर सकता हूं, लेकिन मैं करीब 10 हजार उद्यमियों की मदद करना चाहता हूं।" हालांकि, बेंगलुरु के एक रेस्टोरेंट में बैठे बिन्नी बंसल साल 2018 में फ्लिपकार्ट से निकलने की बातों को लेकर थोड़े असहज भी दिखार्इ दिए। गौरतलब है कि वालमार्ट-फ्लिपकार्ट डील के ठीक थोड़े दिनों बाद ही इस अमरीकी रिटेल कंपनी ने व्यक्तिगत दुर्व्यवहार को लेकर बंसल पर जांच शुरु कर दी थी।

स्टार्टअप्स इकोसिस्टम को मिलेगी मदद

फ्लिपकार्ट में अभी भी 4 फीसदी की हिस्सेदारी रखने वाले बंसल के बारे में कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि सचिन बंसल के साथ भी उनके रिश्ते अच्छे नहीं हैं। आलम यह है कि दोनों में बात तक नहीं होती है। इंटरव्यू में बात करते हुए उन्होंने कहा कि आज के दौर में साॅफ्टवेयर कंपनियां बड़े कारोबार के लिए साॅफ्टवेयर तैयार करती हैं। उनका ध्यान छोटे स्टार्टअप्स पर बिल्कुल नहीं होता। अगर हम हजार गलतियां करते हैं आैर उनमें से कुछ सैकड़े फैसले सही भी लेते हैं। यही हमारे लिए बहुमूल्य होगा। साथ ही हम इस बात पर भी ध्यान दे सकेंगे कि वैश्विक स्तर पर उद्यमियाें को किन परेशानियों का सामना करना पड़ता है।
Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned