आइंस्टीन और बिल गेट्स से भी ज्यादा है 6 साल के ऋषि का IQ

वंडर किड: दस साल के शिव ने दुनिया की सबसे पुरानी और प्रतिष्ठित हाई आइक्यू क्लब 'मेन्सा' में जगह बनाई है।

By: Mohmad Imran

Published: 20 Feb 2021, 07:20 PM IST

बैंगलूरु के 6 साल के ऋषि शिवा प्रसन्ना का नाम हाल ही दुनिया की सबसे पुरानी और प्रतिष्ठित 'मेन्सा हाई आईक्यू सोसायटी' में दर्ज किया गया है। ऋषि का आइक्यू लेवल 180 है जो अल्बर्ट आइंस्टीन और बिल गेट्स के आइक्यू (160) आइक्यू से भी ज्यादा है। जिस उम्र में बच्चे ठीक से कम्प्यूटर नहीं चला पाते, ऋषि की बनाईं तीन उपयोगी ऐप बच्चों के लिए (आईक्यू टेस्ट ऐप), (कंट्रीज़ ऑफ द वर्ल्ड ) एवं सीएचबी (जो बैंगलोर वासियों के कोविड सहायता है) गूगल प्ले स्टोर में सूचीबद्ध हैं। देश के सबसे युवा सर्टिफाइड एन्ड्रॉयड एप्लीकेशन डेवलपर्स में उनका भी नाम शामिल है।

पृथ्वी को बचाना चाहते हैं
विटामिंस के बारे में जानकारी देने के लिए शिवा ने हैरी पॉटर के पात्रों के आधार पर एक किताब भी लिखी है। ऋषि को 'यंग जीनियस' में सम्मानित किया जाएगा। यह शो विलक्षण प्रतिभा वाले बच्चों को सम्मानित करता है। ऋषि ने 3 साल की उम्र में ही सौर तंत्र, ब्रह्मांड, ग्रहों, आकृतियों एवं संख्याओं के बारे में बताना शुरू कर दिया था। 5 साल की उम्र में सन 2019 में अपने आईक्यू के लिए इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड्स की ओर से प्रशस्ति पत्र मिल चुका है। 5 साल की उम्र में वे कोउिंग में माहिर हो गए थे। शिव वैज्ञानिक बनकर पृथ्वी को भविष्य के लिए सुरक्षित बनाना चाहते हैं।

ऋषि शिव प्रसन्ना में अद्भुत प्रतिभा है। उसे अब यंग जीनियस में सम्मानित किया जाएगा। यह शो विलक्षण प्रतिभा वाले बच्चों को सम्मानित करता है। ऋषि पूर्व भारतीय हॉकी खिलाड़ी, पद्म श्री विजेता सरदार सिंह से मिले और उन्हें अपने ज्ञान से बहुत प्रभावित किया। सरदार सिंह 350 से ज्यादा बार भारत के लिए अंतर्राष्ट्रीय मैच खेले हैं और उन्हें सबसे कम उम्र का हॉकी कप्तान बनने का गौरव प्राप्त है। जब वो ऋषि से मिले, तो चकित रह गए।

ऋषि ने काफी छोटी उम्र में अपनी प्रतिभा प्रदर्शित करना शुरू कर दिया था। ऋषि की मां, रचेश्वरी एस. ने बताया, ‘‘3 साल की उम्र में ऋषि ने सौर तंत्र, ब्रह्मांड, गृहों, आकृतियों एवं संख्याओं के बारे में बताना शुरू कर दिया था। उसका ज्ञान देखकर हम अचंभित रह जाते थे’’। उसे 5 साल की उम्र में सन 2019 में अपने आईक्यू के लिए इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स की ओर से सर्टिफिकेट ऑफ एप्रिसिएशन (प्रशस्ति पत्र) मिल चुका है। 4 साल की उम्र में ऋषि की रुचि अंतरिक्ष, विज्ञान, प्रौद्योगिकी और कंप्यूटर साईंस में हो गई। ऋषि शिव प्रसन्ना ने बताया, ‘‘5 साल की उम्र में मैंने कोडिंग सीखी और अब मैं कई यूज़र-फ्रेंडली ऐप बना चुका हूँ। मैं वैज्ञानिक बनकर धरती माँ की रक्षा करने में मदद करना चाहता हूँ।’’ बायजू यंग जीनियस के छठवें एपिसोड में ऋषि शिव पी को सरदार सिंह के साथ एक दिलचस्प वार्ता में देखिए 20 फरवरी, 2021 (शनिवार) को और इसका रिपीट टेलीकास्ट 21 फरवरी को न्यूज़18 नेटवर्क पर प्रसारित होगा।

Show More
Mohmad Imran
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned