अलसी के तेल से ठीक कर सकते हैं स्मार्टफोन की टूटी डिस्प्ले को, यहां जानिए कैसे

  • वैज्ञानिकों ने एक ऐसा तरीका इजाद किया है, जिसकी मदद से घर बैठे ही आपके फोन की टूटी डिस्पले ठीक हो जाएगी।
  • शोध के दौरान 95 फीसदी तक टूटी हुई स्क्रीन को 20 मिनट में ठीक कर दिया गया।

By: Mahendra Yadav

Published: 30 Dec 2020, 04:37 PM IST

जब स्मार्टफोन हमारे हाथ से फिसलकर या किसी भी तरह से हमारे हाथ से गिर जाए तो सबसे पहले फोन की स्क्रीन ही टूटती है। डिस्प्ले टूटने से हम दुखी हो जाते हैं। डिस्पले बदलवाने में काफी पैसा खर्च होता है। सर्विस सेंटर पर फोन को छोड़ना पड़ता है। अब वैज्ञानिकों ने एक ऐसा तरीका इजाद किया है, जिसकी मदद से घर बैठे ही आपके फोन की टूटी डिस्पले ठीक हो जाएगी। जल्द ही फोन की टूटी हुई स्क्रीन को जोड़ने का काम अलसी का तेल कर देगा।

अलसी का तेल भरेगा डिस्प्ले की दरारें
दरअसल, दक्षिण कोरिया के शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि मोबाइल स्क्रीन की दरारों को भरने के लिए अलसी के तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है। हालांकि इसका इस्तेमाल माइक्रोकैप्सूल के रूप में किया जा सकता है। शोधकर्ताओं ने एक रिसर्च में पता चला है कि पारदर्षी अलसी के तेल से डिस्प्ले की दरारों को भरा जा सकता है। शोध के दौरान 95 फीसदी तक टूटी हुई स्क्रीन को 20 मिनट में ठीक कर दिया गया।

यह भी पढ़ें-WhatsApp में जुड़ेगा कमाल का नया फीचर, कई डिवाइसेज पर चला सकेंगे एक ही अकाउंट, जानें डिटेल

display_crack2.png

गर्म तापमान और अल्ट्रावायलेट रोशनी
टूटी स्क्रीन को ठीक करने का प्रयोग प्रयोगषाला में किया गया। अगर यही प्रक्रिया घर पर की जाए तो कई घंटे लग सकते हैं। शोध में पता चला है कि सामान्य तरीके से टूटी स्क्रीन को जोड़ने में घंटों लग सकते हैं, लेकिन गर्म तापमान और अल्ट्रावायलेट रोशनी से इस प्रक्रिया को तेज किया जा सकता है। यह शोध कोरिया इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी (केआईएसटी) में इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड कंपोजिट मैटेरियल में किया गया।

यह भी पढ़ें-अनोखा मैसेजिंग एप, इसमें सेंड का बटन नहीं, टाइप करते ही मैसेज दिखने लगेगा सामने वाले को, कमाल के फीचर्स

दो परतों का मेल बनाता है सिंगल मैटेरियल
इस रिसर्च का नेतृत्व कर रहे सेंटर हेड डॉ. योंग-चाई जुंग क कहना है कि स्क्रीन को ठीक करने वाले इस मैटेरियल को एक पॉलिमर बाइलेयर फिल्म (पीबीएफ) कहा जाता है। ये दो परतों का मेल है जो मिलकर एक सिंगल मैटेरियल बनाती है। इसमें ऊपरी सतह में अलसी के तेल के माइक्रोकैप्सूल होते हैं।

वहीं दूसरी परत फोन, टैबलेट और अन्य गैजेट में इस्तेमाल होने वाले कांच जैसे मैटेरियल से बनी होती है। इस परत कोे सीपीआई कहा जाता है। शोधकर्ताओं का कहना है कि सीपीआई एक पारदर्शी प्लास्टिक होता है, जो मजबूत, लचीला और विद्युत संचालन करता है।

Show More
Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned