यूपी में आए 1230 प्रवासी कोरोना संक्रमित, स्वास्थ्य विभाग की बढ़ी चिंता, सीएम योगी ने दिए यह निर्देश

- कोरोना के अब तक कुल 5735 मामले

- आज 232 मामले

- अब तक 152 मौतें

- अब तक 3324 डिस्चार्ज हुए

- सक्रिय मामले 2259

By: Abhishek Gupta

Published: 22 May 2020, 10:09 PM IST

लखनऊ. कोरोना वायरस यूपी में नए रिकॉर्ड बनाता जा रहा है। गुरुवार को यूपी में 341 नए कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। जो यूपी में एक दिन में दर्ज अब तक की सबसे बड़ी संख्या है। शुक्रवार को भी 232 नए मरीज सामने आए हैं। इसी के साथ कुल कोरोना मरीजों की संख्या 5735 पहुंच गई हैं। इनमें 2259 सक्रिय मामले हैं वहीं 3324 ठीक हो चुके हैं। वहीं 152 की मौत हो चुकी है। इनमें 14 की मौत बीते 24 घंटों में हुई है। शुक्रवार को इटावा में सात, जौनपुर में 28, रामपुर में छह, संतकबीरनगर में छह, गोरखपुर के एक डॉक्टर कोरोना संक्रमित मिला हैं। कोरोना मरीजों की संख्या में एकाएक बढ़ोत्तरी के पीछे प्रवासी हैं। कोरोना के संकटकाल में प्रवासी श्रमिकों व कामगारों का घर लौटना जरूरी है, लेकिन उनमें से ज्यादातर लोगों में कोरोना की पुष्टि चिंता का सबब बन गया है। गुरुवार तक आए कुल कोरोना पॉजिटिव मामलों में से 1230 मामले प्रवासी श्रमिकों से जुड़े हैं। मतलब 23 फीसदी। यह स्वास्थ्य विभाग के लिए बड़ी चुनौती तो है ही, श्रमिकों के परिजनों और गांववालों की भी बड़ी जिम्मेदारी है।

ये भी पढ़ें- यहां एक साथ 7 कोरोना संक्रमितोंं के मिलने से मचा हड़कंप, रेड जोन में हो सकता है शामिल, इलाके सील

सीएम योगी ने दिए निर्देश-

सीएम योगी ने इसको लेकर शुक्रवार को बैठक की है व राज्य के कोविड-19 अस्पतालों में 78 हजार से अधिक बेड की व्यवस्था पर संतोष भी व्यक्त किया, लेकिन निर्देश भी दिया कि इस माह के अन्त तक इन चिकित्सालयों में कुल बेड की संख्या को बढ़ाकर एक लाख किया जाना चाहिए। सीएम योगी ने आज की बैठक में चिकित्सकों को नियमित तौर पर निरीक्षण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि नर्सिंग व पैरामेडिकल स्टाफ चिकित्सालयों में निरन्तर उपलब्ध रहें। पैरामेडिक्स चिकित्सा उपकरणों के क्रियाशील होने की नियमित जांच करते रहें। उन्होंने सभी जनपदों में पीपीई किट, एन-95 मास्क, थ्री लेयर मास्क, सेनिटाइजर, दवाई, पल्स आक्सीमीटर, अल्ट्रारेड थर्मामीटर आदि की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने जांच की क्षमता को बढ़ाकर 10 हजार परीक्षण प्रतिदिन करने के निर्देश दिए। जिस औसत के साथ नए मरीज सामने आए रहे हैं, उसमें बेड कम न पड़े उसकी तैयार करना जरूरी है।

ये भी पढ़ें- सीएम योगी ने पेश की नजीर, निर्माण कार्य में आड़े आ रहे अपने ही मंदिर की गिरवाई दीवार

प्रवासियों के कारण बाराबंकी बना दूसरा सबसे ज्यादा संक्रमित जिला-

बाराबंकी में बुधवार व गुरुवार को सबसे ज्यादा 104 मामले सामने आए हैं। 19 मई तक यहां केवल 29 कोरोना मरीज ही थे। केवल दो दिनों में 104 मामलों की बढ़ोत्तरी के साथ इस जिले में कुल संक्रमितों की संख्या 133 पहुंच गई है, जिनमें 131 मामले एक्टिव है। इनमें 60 फीसदी मामले प्रवासियों से जुड़े हुए हैं। आगरा (142) के बाद अब बाराबंकी दूसरा जिला है जहां वर्तमान में सबसे ज्यादा सक्रिय मामले हैं। वहीं मेरठ में 126 तो नोएडा में गुरुवार तक केवल 92 एक्टिव मामले हैं। इसी के साथ बाराबंकी रेड जोन में शामिल हो गया है।

Corona virus
Show More
Abhishek Gupta Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned